चिन्मयानंद के काले चिट्ठे खुले, इस लड़की ने लगाये गंभीर आरोप

नया मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से है जहां स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज में एलएलएम की एक छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर किडनैपिंग और शारीरिक शोषण का आरोप लगाया था।

Published by Harsh Pandey Published: August 28, 2019 | 5:20 pm
Modified: August 28, 2019 | 7:30 pm

शाहजहांपुर: स्वामी चिन्मयानंद को जानने व पहचानने के लिए उनका नाम ही काफी है। विवादों मे घिरे रहने के कारण हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। धर्म की राह से शुरुआत करके राजनीति तक का सुख लेने वाले स्वामी चिन्मयानंद पर एक नजर…

स्वामी से सांसद का सफर…

बीजेपी के पूर्व सांसद और पूर्व गृहराज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद हमेशा अपने बयानों के कारण विवादों मे रहते हैा स्वामी चिन्मयानंद पर लगे सनसनीखेज आरोप ने यूपी की सियासत में एकबार फिर हलचल मचा दी है।

नया मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से है जहां स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज में एलएलएम की एक छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर किडनैपिंग और शारीरिक शोषण का आरोप लगाया था।

फेसबुक पर वीडियो वायरल…

इसके साथ ही पीड़िता ने फेसबुक पर वीडियो वायरल किया, जिसमें पीड़िता ने चिन्मयानंद के ऊपर कई लड़कियों के शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया था। उल्लेखनीय बात है कि वीडियो वायरल होने के बाद पीड़िता रहस्यमय तरीके से गायब हो गई थी। इस संबंध में लड़की के पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है।

चिन्मयानंद की प्रतिक्रिया…

वहीं इस मामले में स्वामी चिन्मयानंद का कहना है कि उन्हें बेवजह फंसाया जा रहा है। जिस तरह से बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर को फंसाया गया है, उसी तरह से मुझे फंसाने की साजिश रची जा रही है।
खास बात यह है कि आरोप लगाने वाली लड़की 4 दिनों से गायब है। पीड़िता की मां ने कहा है कि आखिर बार वो रक्षाबंधन के दिन घर आई थी।

पहले भी लगे कई आरोप…

हमेशा सुर्खियों में रहने वाले स्वामी चिन्मयानंद पर पहले भी कई आरोप लगते रहे हैं। कुछ साल पहले एक लड़की ने उनके ऊपर किडनैपिंग और रेप का मामला दर्ज करवाया था।

2011 में स्वामी चिन्मयानंद के आश्रम में रहने वाली एक लड़की ने उन्ही के उपर रेप का आरोप लगाया था। 30 नवंबर 2011 को शाहजहांपुर की कोतवाली में स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर रेप की एफआईआर दर्ज की गई।

बताया जा रहा है कि रेप का आरोप लगाने वाली लड़की ने चिन्मयानंद के आश्रम में कई साल गुजारे थे। उसने अपनी शिकायत में कहा था कि हरिद्वार में आश्रम में रहने के दौरान स्वामी चिन्मयानंद ने उसका रेप किया था। इस संबंध में पीड़ित लड़की के पिता ने शाहजहांपुर में एफआईआर दर्ज करवाई थी। इस मुकदमे के खिलाफ स्वामी चिन्मयानंद ने हाईकोर्ट की शरण ली। हाईकोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी।

यह भी पढ़ें.  छोड़ो ट्रेन! इस एयरलाइन में बिकनी का लो मजा, मिलेंगी ऐसी सुविधाएं

योगी सरकार ने किया माफ…

पिछले साल यूपी की योगी सरकार ने उनके खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने का फैसला किया था। इस संबंध में 6 मार्च 2018 को शाहजहांपुर प्रशासन को पत्र लिखा गया था। जिसके बाद 9 मार्च 2018 को शाहजहांपुर प्रशासन ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने की सिफारिश कर दी थी।

योगी सरकार के मंत्री ने कहा…

इस बारे में योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि सरकार ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने का फैसला किया है। लेकिन कोर्ट में मामला चलता रहेगा। अगर कोई इस फैसले के खिलाफ जाना चाहता है तो वो इसे कोर्ट में चलैंज कर सकता है।
कहा जा रहा था कि पीड़ित लड़की ने एफिडेविट देकर मामले को खत्म करने की अपील की थी।

जबकि बाद में पीड़ित लड़की ने मीडिया के सामने आकर कहा था कि इस बारे में उसके नाम पर झूठा एफिडेविट दिया गया था। उसने कभी एफिडेविट फाइल नहीं किया था। बताते चलें कि योगी सरकार ने पिछले साल स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर लगे रेप के एक मुकदमे को वापस ले लिया था।

राष्ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट को लिखा पत्र…

पीड़िता ने योगी सरकार के इस फैसले के खिलाफ राष्ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस, यूपी के राज्यपाल और यूपी के सीएम के साथ जिला जज को पत्र लिखकर इंसाफ की मांग की थी।

यह भी पढ़ें.  मथुरा: थाना सुरीर परिसर में दंपती ने पेट्रोल डाल खुद को किया आग के हवाले

नया मोड़, दिल्ली से आया था मां को फोन…

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर लगे आरोपों के मामले में नया मोड़ आ गया है। शाहजहांपुर से गायब लड़की के बारे में पुलिस जांच कर रही है और उसमें पता चला है कि लड़की अपने घर से एक लड़के के साथ दिल्ली के द्वारका इलाके में गई है।

जानकारी के मुताबिक लड़की ने द्वारका के पास एक नंबर से कॉल किया था, जिसमें उसकी बात अपनी मां से हुई और उसने फोन पर बताया कि वह कहीं आई है और जब मौका मिलेगा तो उसे कॉल करेगी।

मीडिया खबरों के मुताबिक, लड़की एक लड़के के साथ दिल्ली में है और कॉल करने से पहले वह द्वारका के एक होटल गोल्डन पैलेस में भी रुकी थी। यूपी और दिल्ली पुलिस की टीम ने वहां पर छापेमारी कर लड़के का आईडी कार्ड भी बरामद किया है।

इसके साथ ही पुलिस ने लड़की और उसकी मां के बीच की बातचीत की रिकॉर्डिंग को भी बरामद कर लिया है। लड़की ने जहां से फोन किया था उसके पास लगे सीसीटीवी फुटेज से दोनों के वीडियो मिले हैं।

वीडियो का आधार…

इन वीडियो के आधार पर कहा यह जा रहा है यह लड़की संभवत: अपनी मर्जी से किसी लड़के के साथ गई है। जानकारी के मुताबिक, लड़का पीड़िता के साथ ही शाहजहांपुर के सुखदेव महाविद्यालय में पढ़ाई कर चुका है और लॉ का छात्र रहा है। मुमकिन है कि लड़की, लड़के के बहकावे में कहीं गई हो।

यह भी पढ़ें.  राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र के सगे संमधी को बसपा ने दिया यहां से टिकट

फिलहाल जब तक लड़की नहीं मिलती, तब तक कुछ भी पूरी तरह से कहना संभव नहीं है, लेकिन हालात और सबूत इशारा करते हैं कि लड़की के गायब होने में स्वामी चिन्मयानंद का हाथ नहीं भी हो सकता है। फिलहाल पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है और इस मामले में जल्द ही खुलासा कर सकती है।

स्वामी चिन्मयानंद एक नजर…

स्वामी चिन्मयानंद का जन्म 3 मार्च 1947 को यूपी के गोंडा जिले में हुआ था। वे अवध के राजघराने से संबंध रखते हैं। युवावस्था में उन्होंने बुद्ध और महावीर से प्रभावित होकर राजघराने से अपने को अलग कर लिया। वो अविवाहित हैं, स्वामी चिन्मयानंद ने लखनऊ यूनिवर्सिटी से एमए की शिक्षा ग्रहण किया है।

इसके साथ ही स्वामी चिन्मयानंद ने तंत्र, फिलॉस्फी और योग में महारत हासिल की है। राजनीति सफर इनका सुहावना रहा है। वाजपेयी सरकार में ये गृहराज्यमंत्री बनाए गए थे। 1991 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर चिन्मयानंद बदायूं से जीत हासिल करके संसद पहुंचे थे। 1998 में इन्होंने मछलीशहर से जीत हासिल की। इसके बाद 1999 के चुनाव में इन्होंने जौनपुर सीट से जीत हासिल की।