जानिए क्यों शिया धर्मगुरु कल्बे सादिक से मिले राज्यपाल राम नाईक

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज एरा मेडिकल कालेज जाकर वरिष्ठ शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक साहब की कुशलक्षेम जानी। मौलाना कल्बे सादिक काफी दिनों से बीमार चल रहे हैं।

लखनऊः उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज एरा मेडिकल कालेज जाकर वरिष्ठ शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक साहब की कुशलक्षेम जानी। मौलाना कल्बे सादिक काफी दिनों से बीमार चल रहे हैं।

यह भी पढ़ें…एचजेएस मेंस 2018 का परिणाम घोषित, यहां देखें रिजल्ट

राज्यपाल ने मौलाना सादिक से उनका हालचाल लिया और कहा कि ‘जल्द ठीक होइये, आपको अभी समाज के लिये बहुत काम करना है। मैं जब कैंसर रोग से पीड़ित था तो पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने हिम्मत दिलाई थी। ठीक होने पर कहा कि राम भाऊ बोनस में मिला जीवन ईश्वर ने समाज सेवा के लिये दिया है।’ उन्होंने कहा कि मैं अटल जी की बात को दोहराते हुए कहना चाहूंगा कि आपको भी अपनी इच्छा शक्ति बनाये रखना होगा।

यह भी पढ़ें…कृष्णानंद राय हत्याकांड : मुख्तार के बेटे ने फैसले को बताया इंसाफ की जीत

इस्लामिक विद्वान के तौर पर प्रसिद्ध हैं कल्बे सादिक

शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक अन्तरराष्ट्रीय इस्लामिक विद्वान के तौर पर जाने जाते है। उनका जन्म लखनऊ में हुआ। वह इस्लाम धर्म के प्रचार प्रसार के लिए कई देशों का दौरा कर चुके हैं। उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी से पीएचडी भी की है। इसके अलावा उनके पास अरबी साहित्य की भी डिग्री हासिल है। अरबी के अलावा उनको उर्दू फारसी अंग्रेजी और हिन्दी भाषा में महारत हासिल है।