कृष्णानंद राय हत्याकांड : मुख्तार के बेटे ने फैसले को बताया इंसाफ की जीत

बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में सीबीआई कोर्ट के आदेश के बाद अंसारी परिवार और उनके समर्थकों में जश्न का माहौल है। इस फैसले के बाद मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने अदालत का शुक्रिया किया है।

मुख्तार अंसारी

मुख्तार अंसारी

वाराणसी: बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में सीबीआई कोर्ट के आदेश के बाद अंसारी परिवार और उनके समर्थकों में जश्न का माहौल है। इस फैसले के बाद मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने अदालत का शुक्रिया किया है।

सोशल मीडिया पर वीडियो जारी करते हुए अब्बास अंसारी ने कहा कि लंबे समय बाद उनके परिवार के लिए एक खुशी का लम्हा आया है। उन्होंने कहा कि अदालत पर उन्हें पूरा भरोसा था और आज उनके परिवार को इंसाफ मिला।

ये भी पढ़ें…वाराणसी जेल में छापेमारी से हड़कंप, DM और SSP ने खंगाली खूंखार बंदियों की बैरक

समर्थकों में जश्न का माहौल

मुख्तार अंसारी, अफजाल अंसारी के बरी होते ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। गाजीपुर, मऊ और वाराणसी में मुख्तार अंसारी के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर अपनी खुशी प्रकट की।

इस फैसले को इंसाफ की जीत बताया। दूसरी ओर कृष्णानंद राय के परिवार में सियापा पसरा है। वाराणसी स्थित अलका राय के आवास पर सन्नाटा पसरा था. परिवार के लोगों ने मीडिया से दूरी बनाई।

ये भी पढ़ें…पीएम मोदी ने वाराणसी की जनता के नाम जारी किया संदेश

14 साल बाद आया फैसला

29 नवंबर 2005 को कृष्णानंद राय अपने साथियों के साथ एक कार्यक्रम से लौट रहे थे तभी एके 47 से लैस बदमाशों ने उनकी गाड़ी को घेर लिया और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। बताया जाता है कि बदमाशों ने सैकड़ों राउंड गोलियां चलाई थी। इसमें सात लोगों की मौत हुई थी। सभी शवों में से 67 गोलियां मिली थी।

इस हमले में भाजपा विधायक कृष्णानंद राय और उनके छह साथियों मुहम्मदाबाद के पूर्व ब्लाक प्रमुख श्यामाशंकर राय, भांवरकोल ब्लाक के मंडल अध्यक्ष रमेश राय, अखिलेश राय, शेषनाथ पटेल, मुन्ना यादव व उनके अंगरक्षक निर्भय नारायण उपाध्याय की हत्या कर दी। इस मामले में मुख्तार अंसारी उनके बड़े भाई अफजाल अंसारी समेत पांच आरोपियों को बरी कर दिया गया।