वाराणसी जेल में छापेमारी से हड़कंप, DM और SSP ने खंगाली खूंखार बंदियों की बैरक

यूपी की जेलों में धड़ल्ले से इस्तेमाल हो रहे मोबाइल पर लगाम लगाने के लिए अब ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू हो गई है। उन्नाव जेल से बंदी का वीडियो वायरल होने के बाद गुरुवार को वाराणसी के जिला जेल में छापेमारी हुई।

Published by Dharmendra kumar Published: June 27, 2019 | 8:18 pm
Modified: June 27, 2019 | 11:10 pm

वाराणसी: यूपी की जेलों में धड़ल्ले से इस्तेमाल हो रहे मोबाइल पर लगाम लगाने के लिए अब ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू हो गई है। उन्नाव जेल से बंदी का वीडियो वायरल होने के बाद गुरुवार को वाराणसी के जिला जेल में छापेमारी हुई। इस दौरान डीएम और एसएसपी ने जिला जेल की बैरकों को खंगाला। इस दौरान जेल में हड़कंप मचा रहा।

यह भी पढ़ें…UP और गुजरात ATS ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले दो संदिग्धों को पकड़ा

खूंखार बंदियों के बैरकों की खासतौर से तलाशी

दरअसल पिछले एक महीने से यूपी के अलग-अलग जेलों के अंदर से बंदियों के वीडियो वायरल हो रहे हैं। गाजीपुर, नैनी के बाद उन्नाव जेल में भी एक बंदी ने फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डाल दिया था।

इन तस्वीरों के आने बाद यूपी पुलिस की खूब किरकिरी हो रही है। वाराणसी में शाम को तकरीबन पांच बजे डीएम, एसएसपी सहित पुलिस के आला अफसर अचानक जिला जेल धमक पड़े। जेल के अंदर दाखिल होते ही सबसे पहले खूंखार बंदियों के बैरकों की ओर रुख किया. बैरक के चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई।

यह भी पढ़ें…Viral Video: शराब पीने से टोकने पर दबंगों ने की दो होमगार्डों की पिटाई

4 G के जमाने में 3G जैमर

जेलों में मोबाइल के इस्तेमाल को रोकने के लिए जैमर तो लगाए गए हैं लेकिन वो काफी पुराने हैं। टेक्नेलॉजी के इस दौर में जमाना 4G का है। लेकिन जेलों में अभी भी थीजी जैमर लगे हैं। लिहाजा बंदी इसका भरपूर उपयोग करते हैं और ताबड़तोड़ मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App