शर्मनाक: बेबस पिता नहीं भर सका बिल, अस्पताल ने नवजात का शव देने से किया मना

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के पिहानी में धरती के भगवान शैतान बन गए और एक बेबस पिता को बिल न जमा करने पर उसके नवजात बच्चे के शव को ही देने से मना कर दिया।

hardoi private hospital refused to give newborn dead body to father for not paid bill

हरदोई। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के पिहानी में धरती के भगवान शैतान बन गए और एक बेबस पिता को बिल न जमा करने पर उसके नवजात बच्चे के शव को ही देने से मना कर दिया। बेबस पिता ने जब पुलिस से गुहार लगाई तब जाकर उसके नवाजत बच्चे के शव को अस्पताल प्रशासन ने दिया।

अस्पताल प्रशासन पर बिना पैसे लिए नवजात का शव देने से मना करने का आरोप

हरदोई के पिहानी कोतवाली क्षेत्र के एक निजी अस्पताल पर बिना पैसे दिए नवजात बच्चे का शव न देने का आरोप लगाकर शिकायत पुलिस से की।सूचना पर पहुंची पुलिस ने नवजात बच्चे के शव को उसके पिता के सुपुर्द कराया।एएसपी कपिल देव ने बताया कि पुलिस के पहुंचने पर दोनो पक्षों ने समझौता कर लिया और परिजन बच्चे के शव को लेकर अपने गांव चले गए है।

प्रसूता के पति ने निजी अस्पताल संचालक पर लगाया आरोप

धरती के भगवान का हैरान कर देने वाला यह पूरा मामला पिहानी कोतवाली इलाके के कस्बे का है।यहां एक पिता धरती के भगवान के पास गिड़गिड़ाता रहा अपने बच्चे का शव देने की गुहार लगता रहा लेकिन धरती के भगवान नही पसीजे और नवजात का शव देने से मना कर दिया।आखिर बेबस पिता पुलिस के पास पहुंचा तब जाकर उसको उसके नवाजत का शव मिल सका।

ये भी पढ़ेंः शोले का वीरू गिरफ्तारः फीस के लिए चढ़ा पानी की टंकी पर, किया जानलेवा प्रदर्शन

सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को दिलाया बच्चे का शव

यहां पिहानी के सेखवापुर कल्यानी गांव निवासी सुभाष पुत्र अर्जुनलाल ने अपनी पत्नी नीतू जो प्रसव पीड़ा होने पर पिहानी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था।यहां महिला के प्रसव के दौरान एक बच्चे को जन्म दिया जो कि मृत था।

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष की तबियत अचानक बिगडी, अस्‍पताल से जांच कराकर लौटे

सुभाष के मुताबिक उसको डॉक्टरों ने 18 हजार रुपये का बिल बना कर दिया और जब उसने 8 हजार रुपये ही दिए तो लापरवाही बरतने के चलते उसके बच्चे की मौत हो गयी।आरोप है कि 10 हजार औऱ ले आने के बाद ही नवजात का शव देने की बात अस्पताल प्रशासन द्वारा की गई।

पिहानी कोतवाली इलाके के निजी अस्पताल का मामला

इस मामले की शिकायत पुलिस से की गई तो सूचना पाकर पिहानी कोतवाल महेश चंद्र अस्पताल पहुंचे और डॉक्टर से बात की।नवजात बच्चे के शव को पुलिस ने उसके पति के सुपुर्द कराया।

hardoi private hospital refused to give newborn dead body to father for not paid bill

एएसपी कपिल देव ने बताया कि पुलिस के पहुंचने पर दोनो पक्षों ने समझौता कर लिया और परिजन बच्चे के शव को लेकर अपने गांव चले गए है।

मनोज तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App