योगी सरकार की बड़ी तैयारी, नई अयोध्या में पौरोणिकता के साथ आधुनिकता भी दिखेगी

अयोध्या में चल रही योजनाओं को एक दूसरे से जोड़कर रामनगरी का विकास किया जाएगा। इसको अंतरराष्ट्रीय कल्चरल कैपिटल टूरिस्ट हब बनाया जाएगा। अयोध्या को पौराणिकता के साथ ही उसे आधुनिक बनाने के लिए आईआईटी इंदौर से मदद ली जाएगी।

Published by Shreya Published: January 9, 2021 | 12:21 pm
yogi

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, नई अयोध्या में पौरोणिकता के साथ आधुनिकता भी दिखेगी (फोटो- ट्विटर)

लखनऊ: अयोध्या में मंदिर निर्माण का रास्ता साफ होने के बाद अब यहां पर उसके पौरोणिक स्वरूप के साथ ही उसे आधुनिक बनाने के लिए भी तैयारियां की जा रही हैं। मंदिर निर्माण के साथ ही राज्य सरकार ने अयोध्या को दुनिया का बेहतरीन आध्यात्मिक और आधुनिक पर्यटन केंद्र बनाने की तैयारी शुरू कर दी है।

भगवान राम की मूर्तियां बनेंगी आकर्षण का केंद्र

संस्कृति व पर्यटन विभाग की ओर से भी अयोध्या के विकास की अनेक योजनाएं तैयार की गई हैं। आने वाले दिनों में भगवान राम की सबसे बड़ी मूर्ति भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बनेगी। इसके साथ ही रामकथा गैलरी, डिजिटल म्यूजियम, रामलीला संकुल, ऑडिटोरियम आदि ढेर सारी योजनाएं जल्द से जल्द पूरी करने की कोशिश है।

यह भी पढ़ें: गोरखपुर में बर्ड फ्लू से खौफ: चिकन के दाम में भारी गिरावट, 60 रुपये हुआ सस्ता

ayodhya
(फोटो- सोशल मीडिया)

ऐसा किया जाएगा रामनगरी का विकास

अयोध्या में चल रही योजनाओं को एक दूसरे से जोड़कर रामनगरी का विकास किया जाएगा। इसको अंतरराष्ट्रीय कल्चरल कैपिटल टूरिस्ट हब बनाया जाएगा। अयोध्या के पौराणिकता के साथ ही उसे आधुनिक बनाने के लिए आईआईटी इंदौर से मदद ली जाएगी। इसके लिए अयोध्या नगर निगम और आईआईटी इंदौर के बीच समन्वय बनाया जा रहा है। जिससे श्री राम की नगरी में स्वच्छता दिखाई दे। इसलिए तय किया गया है कि इंदौर की तर्ज पर ही अयोध्या में कैपेसिटी बिल्डिंग और ट्रेनिंग का काम होगा।

IIM के विशेषज्ञ देंगे नगर निगम कर्मचारियों को प्रशिक्षण

शहर को साफ  रखने के लिए आईआईएम के विशेषज्ञ नगर निगम कर्मचारियों को प्रशिक्षण देंगे। वे कचरा प्रबंधन के तौर तरीके बताएंगे कि किस व्यवस्था के तहत बेहतर परिणाम पाए जा सकते हैं। सुगम यातायात के लिए सड़कों को भी चौड़ा  किया जाएगा। यहां के वैज्ञानिक अयोध्या नगर निगम से सामंजस्य कर सजावट और ट्रैफिक  आदि को सुचारू बनाने का काम करेंगे। उल्लेखनीय है कि स्वच्छता के मामले में इंदौर लगातार देश  में पहले नम्बर पर आ रहा है।

यह भी पढ़ें: UP में फिर चली तबादला एक्सप्रेस, लखनऊ से 41 इंस्पेक्टरों का ट्रांसफर, देखें पूरी लिस्ट

1100 एकड़ में नई अयोध्या का निर्माण

सरयू नदी के किनारे 1100 एकड़ में नई अयोध्या का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए अयोध्या विकास प्राधिकरण और आवास विकास परिषद मिलकर संयुक्त रूप से काम कर रहे हैं।  अयोध्या की नई अयोध्या को धनुष आकार में या वैदिक सिटी के रूप में विकसित किए जाने की तैयारी की जा रही है।  नई अयोध्या में होटल, हॉस्पिटल, मठ-मंदिर, स्कूल, रहने के लिए आवासीय प्लॉट, आवासीय कॉलोनी और तमाम तरीके की सुविधाएं उपलब्ध की जाएंगी।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री

यह भी पढ़ें: UP सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा के पिता का निधन, CM योगी ने जताया दुख

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App