वाराणसी में देव दीपावली पर धरती, आकाश और पानी से होगी घाटों की सुरक्षा

देव दीपावली पर बनारस के घाटों को 10 लाख दीयों से रौशन किया जाएगा। एक साथ इतनी संख्या में दीयों का जलना भी अपने आप में रिकार्ड है।

वाराणसी: देव दीपावली को लेकर वाराणसी में तैयारियां अंतिम चरण में हैं। अधिकारियों की सबसे अधिक चिंता सुरक्षा को लेकर है। अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आतंकी खतरे का डर बढ़ गया है। लिहाजा सुरक्षा में किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं कि जा रही है।

ये भी पढ़ें—राम मंदिर फैसले पर बोले कल्याण सिंह कहा- मैं जरूर जाऊंगा अयोध्या

 यही कारण है की सोमवार को जिले के आला अधिकारियों ने दशाश्वमेध, शीतला घाट, पंचगंगा घाट सहित अन्य घाटों का निरीक्षण किया और सुरक्षा व्यवस्था को परखा। एडीजी ज़ोन ब्रजभूषण की अगुवाई में अधिकारियों ने घाटों के चप्पे चप्पे को खंगाला।

ये भी पढ़ें—यहां प्रदूषण नियंत्रण के लिए डीएम ने उठाया कड़ा कदम, जारी किए ये खास निर्देश

ड्रोन से होगी निगहबानी

देव दीपावली पर आकाश, जमीन और पानी..तीन स्तरों से घाटों की सुरक्षा होगी। एक तरफ जमीन पर जहां पैरामिलिट्री और स्थानीय फोर्स मौजूद रहेगी, वहीं ड्रोन के जरिये आकाश से सुरक्षा व्यवस्था पर निगहबानी की जाएगी।

ये भी पढ़ें—महिला ने डीएम से मिलकर लगाई मदद की गुहार, कहा- प्रबंधक करते हैं गंदा काम

वहीं गंगा की धारा में भी सुरक्षा बल तैनात रहेंगे। जल पुलिस को सतर्क कर दिया गया है। खुफिया विभाग के कर्मचारी भी मुस्तैद रहेंगे। एडीजी ज़ोन ब्रजभूषण के साथ डीआईजी विजय मीना और एसएसपी प्रभाकर चौधरी घाट पर मौजूद थे।

10 लाख दीयों से जगमग होंगे घाट

देव दीपावली पर बनारस के घाटों को 10 लाख दीयों से रौशन किया जाएगा। एक साथ इतनी संख्या में दीयों का जलना भी अपने आप में रिकार्ड है।

ये भी पढ़ें—देव दीपावली: जमीं पर दिखेगा ‘जन्नत’ का नजारा, 7 लाख में बुक हुई जलपरी

घाटों पर स्वयंसेवी संस्थानों के साथ जिला प्रशासन दीयों को जलाने का काम करेगा। इस दौरान स्तहनिय लोग भी इसमें बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते हैं।