Top

रंग लाई आनंदीबेन की पहल, पांच चिकित्सा संस्थानों को मिले 30 वेंटिलेटर

कोरोना संकट की इस घड़ी में स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरुस्त करने में सीएम के साथ राज्यपाल आनंदीबेन भी लग गई हैं।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad MishraBy Raghvendra Prasad Mishra

Published on 3 May 2021 4:47 PM GMT

Anandiben
X

सांकेतिक तस्वीर— (साभार— सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। कोरोना संकट की इस घड़ी में स्वास्थ्य सुविधाओं को चुस्त—दुरुस्त करने में योगी सरकार के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी लग गई हैं। इस दिशा में आनंदी बेन की पहल रंग लाई है। बहुराष्ट्रीय कंपनी फ्लिपकार्ट ने राजधानी लखनऊ के पांच चिकित्सा संस्थानों को 30 वेंटिलेटर उपलब्ध कराए हैं। फ्लिपकार्ट ने उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन लिमिटेड की प्रबंध निदेशक कंचन वर्मा के जरिए ये वेंटिलेटर मुहैया कराए हैं।

इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में ये वेंटिलेटर मरीजों के लिये संजीवनी का कार्य करेंगे। इस समय राज्य के इन वेंटिलेटर की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा राज्य सरकार का पूरा प्रयास है कि किसी भी मरीज को किसी तरह की असुविधा न होने पाए। प्रबंध निदेशक कंचन वर्मा ने बताया कि 7-7 वेंटिलेटर एसजीपीजीआई व केजीएमयू लखनऊ को तथा 5-5 वेंटिलेटर आरएमएल एवं कैंसर इंस्टीट्यूट को और 6 वेंटिलेटर बलरामपुर अस्पताल को उपलब्ध कराए गए हैं।

Also Read:कोरोना काल: आम मरीजों के इलाज के बजाय ऐसे लोकप्रिय हो रहे प्राइवेट डॉक्टर

इसी के साथ ही फ्लिपकर्ट संस्थान की ओर से राज्यपाल अनंदीबेन की पहल पर जिला कारागार लखनऊ को दस मैनुअल नैपकिन वाइडिंग मशीन भी मुहैया कराई गई है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में बढ़ते संक्रमण पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई कड़े कदम उठाए हैं। उन्होंने अंतरराज्यीय बसों के आवगमन पर रोक लगाने के साथ ही प्रदेश में साप्ताहिक लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर पांच दिवसीय कर दिया है।

Also Read:BJP MLA ने CM योगी को लिखा पत्र, कहा- संसाधनों की कमी के चलते मर रहे मरीज


Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story