×

जौनपुर केराकत के विधायक दिनेश चौधरीः सेवा भावना राजनीति में ले आई

विधायक दिनेश चौधरी का मानना है अगर जन प्रतिनिधि जनता के बीच में रहे उसे धोखा न दे तो कोई समस्या जन प्रतिनिधि को नहीं होगी। जनता की अपेक्षायें तो बहुत रहती हैं लेकिन अगर जन प्रतिनिधि सही काम करे तो जनता गलत अपेक्षाएं छोड़ देती है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 20 Aug 2020 3:58 PM GMT

जौनपुर केराकत के विधायक दिनेश चौधरीः सेवा भावना राजनीति में ले आई
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कपिल देव मौर्य

जौनपुर। जनपद की सुरक्षित केराकत विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2017 में भाजपा के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़कर विधायक बने दिनेश चौधरी ने "न्यूज ट्रैक" से राजनीति सहित तमाम मुद्दों पर बड़ी सरलता एवं बेबाकी के साथ अपनी राय रखी।

राजनीति परिवार से मिली

दिनेश चौधरी ने बताया कि हमारे परिवार में कई पीढ़ी से राजनीति चली आ रही है। हमारे पिताजी ब्लाक प्रमुख रहे। हमारे जेहन में बचपन से ही समाज सेवा के प्रति लगन थी इसीलिए हमारे भाइयों ने हमें राजनीति की तरफ प्रेरित किया।

वह बताते हैं कि उन्होंने पहले पत्नी को राजनीति में उतारा फिर 2017 वह खुद चुनाव की जंग में कूद पड़े और केराकत विधानसभा क्षेत्र की जनता ने जन प्रतिनिधि होने का गौरव प्रदान कर दिया। अब वह जनता की सेवा में लगे हुए हैं।

पहले पत्नी को राजनीति में उतारा

श्री चौधरी ने बताया कि वर्ष 2010 में उन्होंने अपनी पत्नी शारदा चौधरी को सपा के टिकट पर जिला पंचायत का चुनाव लड़ा कर सदस्य बनवाया। फिर उन्हें जिला पंचायत का अध्यक्ष बनवाया। पत्नी के साथ रह कर जनता की सेवा में लगे रहे।

जौनपुर केराकत के विधायक दिनेश चौधरीः सेवा भावना राजनीति में ले आई

वह बताते हैं कि इसका परिणाम ये रहा कि जब उन्होंने सपा छोड़ भाजपा की सदस्यता ग्रहण की तो भाजपा ने केराकत विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ाने का अवसर दिया और सफलता भी मिल गयी।

राजनीति न करते तो बिजनेस करते

उन्होंने कहा कि अगर राजनीति न करते तो अपने बिजनेस को आगे बढ़ाते साथ ही समाज के कमजोर वर्गों के लोगों की सेवा करते रहते क्योंकि बचपन से ही समाज सेवा की भावना मन में रही है।

मंहगे चुनाव के सवाल पर विधायक चौधरी ने कहा कि अगर नेता पापुलर है और जनता की सेवा करता रहता है तो जनता खुद उसके साथ नजर आती है ऐसे में चुनाव पर मंहगाई का असर नहीं होता है।

जनप्रतिनिधि धोखा न दे तो कोई समस्या नहीं

चुनाव में सुधार के सवाल पर वह कहते हैं कि इसमें कुछ सुधार की आवश्यकता है लेकिन अगर जन प्रतिनिधि जनता के बीच में रहे उसे धोखा न दे तो कोई समस्या जन प्रतिनिधि को नहीं होगी। जनता की अपेक्षायें तो बहुत रहती हैं लेकिन अगर जन प्रतिनिधि सही काम करे तो जनता गलत की अपेक्षाएं छोड़ देती है।

गोंडा की गौरा सीट से विधायक प्रभात वर्माः बूथ कार्यकर्ता से की शुरुआत

जन प्रतिनिधि को जनता से अपेक्षा होती है कि वह उसका साथ दे, इसके लिए जन प्रतिनिधि को भी जनता का भला सोचना चाहिए। ब्यूरोक्रेसी के सहयोग की बात पर कहा कि हम जन प्रतिनिधि हैं क्षेत्र के विकास में जो अपेक्षायें की जाती हैं उसे पूरा करना उनकी जिम्मेदारी है और पूरी होती है।

जिस दल के साथ रहें ईमानदारी जरूरी

खुशी के पल के बाबत सवाल करने पर विधायक श्री चौधरी ने कहा कि जब हम गरीब, मजलूम की मदद करते हैं और जब किसी काम के प्रयास का परिणाम सफल होता है तो बेहद खुशी मिलती है। वहीं असफलता पर दुख भी होता है।

दल बदल को आज की राजनीति में आम बात बताते हुए कहा कि जब तक जहाँ जिस दल के साथ रहे ईमानदारी के साथ रहना चाहिए। दल के प्रति निष्ठा रखनी चाहिए।

आन्तरिक लोकतंत्र के सवाल पर कहा कि सपा बसपा कांग्रेस में परिवारवाद है लेकिन भाजपा में शुद्ध रूप से आन्तरिक लोकतंत्र कायम है यहाँ परिवारवाद को स्थान नहीं है।

विकास कार्य और निधि

विधायक निधि के सवाल पर कहा कि जनता की अपेक्षाओं की पूर्ति के लिए विधायक निधि बहुत जरूरी है ।

अपने तीन साल के कार्यकाल में केराकत विधानसभा क्षेत्र में किये गये कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कहा कि विधानसभा क्षेत्र के ग्राम सभा अमिहित में 5 करोड़ रुपए की लागत से 20 एकड़ भूमि पर कृषि विज्ञान केन्द्र बनवाया जा रहा है।

बलरामपुर सदर विधायक पल्टूरामः काफिले और गार्डों से दूर, अलग पहचान

मुफ्तीगंज में राजकीय महिला महा विद्यालय 9 करोड़ रुपए,

केराकत के पचवर गांव में राजकीय इन्टर कालेज लागत 3.50 करोड़ रुपए,

केराकत नगर क्षेत्र का सौन्दर्यीकरण 40 लाख रुपये,

मई घाट एवं पसेवां घाट पर 2010 मे बसपा शासन काल में स्वीकृत पुलों के निर्माण हेतु हमने 32 करोड़ रुपए दिलाया है।

विधानसभा क्षेत्र की तमाम सड़कों के लिए 35 करोड़ रुपए की स्वीकृति शासन से करा दी है और काम चल रहा है। बीमारी से इलाज हेतु गरीब कमजोर लोगों को 2.50 करोड़ रुपए की सहायता राशि दिलाने का काम किया है।

इसके अलावां हैंडपम्प,गांवो के विद्युती करण, शौचालय एवं आवास आदि का काम कराया है

ओपेन जिम की व्यवस्था

क्षेत्र के सेनापुर गांव जहां सन् 1857 में स्वतंत्रता की जंग लड़ते समय 22 सेनानियों को फांसी पर लटका दिया गया था वहां पर स्थित शहीद स्थल पर 2 बीघा में एक पार्क जिसमें स्मारक, बैडमिंटन, बालीबाल आदि खेलो को बढ़ावा देने के लिए व्यवस्था है तो जन स्वास्थ्य के ओपेन जिम की व्यवस्था की जा रही है।

गंगा नदी के तट पर स्थित बाबा कीना राम की मठ को सुरक्षित करने के लिए घाट पर 2 करोड़ रुपए की लागत से पत्थर लगवाया है।

मेरठ शहर के विधायक रफीक अंसारीः एक मुस्कराहट से कर देते हैं दुख दूर

विधायक श्री चौधरी ने कहा कि केराकत विधानसभा क्षेत्र में एक महिला अस्पताल की जरूरत है ताकि महिलाओं को उपचार हेतु दूर जाने से मुक्ति मिल सके।

खेल के लिए एक स्टेडियम, तकनीकी शिक्षा हेतु एक आई टी आई कालेज, एवं याता यात सुविधा के लिए एक बस स्टेशन की जरूरत है हम लगातार अपनी सरकार में प्रयासशील है सफलता मिलने की संभावना भी है।

Newstrack

Newstrack

Next Story