Top

हाथरस कांड में IPS एसोसिएशन का फूटा गुस्सा, DM पर उठा दिए ये सवाल

बता दें कि हाथरस मामले में बीते शुक्रवार देर शाम एसआईटी की प्रारंभिक जांच के आधार पर हाथरस के एसपी, डीएसपी समेत कुछ पुलिस अधिकारियों को निलंबित करते हुए पीड़िता के परिवार समेत इस मामलें में शामिल सभी का नारको पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने को कहा गया था।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 Oct 2020 6:02 AM GMT

हाथरस कांड में IPS एसोसिएशन का फूटा गुस्सा, DM पर उठा दिए ये सवाल
X
हाथरस कांड में हुई कार्रवाई पर आईपीएस एसोसिएशन ने खडे़ किए सवाल (social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: हाथरस कांड में रोज नए बवाल खड़े हो रहे है। सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच हुई रार के बाद अब इस मामलें में आईएएस व आईपीएस के बीच भी दरार आने के संकेत मिल रहे है। इस मामलें में एसआईटी की जांच का हवाला देते हुए हाथरस के पुलिस कप्तान समेत पांच पुलिस अधिकारियों पर हुई कार्रवाई पर आईपीएस एसोसिएशन ने सवाल खडे़ कर दिए है। आईपीएस एसोसिएशन के सूत्रों के मुताबिक इस मामलें में पुलिस वालों पर ही एकतरफा कार्रवाई की गई है जबकि वहां पर सभी कार्रवाई जिलाधिकारी के आदेश पर हो रहे थे। एसोसिएशन का मानना है कि इस मामलें की पूरी जिम्मेदारी पूरे प्रशासन पर होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें:यात्रियों के लिए खुशखबरी: स्पेशल ट्रेनों पर रेलवे का बड़ा बदलाव, सफर होगा आसान

एसोसिएशन का कहना है

एसोसिएशन का कहना है कि हाथरस मामलें में अगर कोई लापरवाही हुई है तो इसके लिए अकेले पुलिस महकमा जिम्मेदार कैसे जिम्मेदार हो सकता है? किसी भी मामलें में प्रशासन आदेश देता है और पुलिस प्रशासन उसे लागू करवाता है। ऐसे में जब पुलिस कप्तान पर कार्रवाई हो सकती है तो जिलाधिकारी पर क्यों नहीं?

police police (social media)

एसआईटी की रिपोर्ट में हाथरस के पुलिस कप्तान विक्रांत वीर पर लापरवाही के आरोप लगाये गए थे

बता दें कि हाथरस मामले में बीते शुक्रवार देर शाम एसआईटी की प्रारंभिक जांच के आधार पर हाथरस के एसपी, डीएसपी समेत कुछ पुलिस अधिकारियों को निलंबित करते हुए पीड़िता के परिवार समेत इस मामलें में शामिल सभी का नारको पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने को कहा गया था। एसआईटी की रिपोर्ट में हाथरस के पुलिस कप्तान विक्रांत वीर पर लापरवाही के आरोप लगाये गए थे।

ये भी पढ़ें:बड़ा हादसा: तेज धमाके में ग्लाइडर के उड़ गए परखच्चे, नौसेना के दो अफसरों की मौत

हालांकि इस मामलें में हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार की कार्यशैली पर भी कई सवाल खड़े हुए है। पीड़िता के परिवार ने जिलाधिकारी प्रवीण कुमार पर धमकाने और दबाव डालने का आरोप लगाया और इसका वीडियों भी वायरल हुआ था। जिस पर जिलाधिकारी ने अपनी सफाई भी पेश की थी। पीड़िता के परिवार ने जिलाधिकारी प्रवीण कुमार को हटाये जाने की मांग भी की थी।

मनीष श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story