यूपी में फिर कत्लेआम: हुआ ताबड़तोड़ गोलीकांड, BDC सदस्य की मौत से मचा हंगामा

जौनपुर के केराकत थाना क्षेत्र के मुरलीपुर गांव के निवासी शैलेन्द्र यादव अपनी डेयरी से घर जा रहे थे, तभी बाइक सवार बदमाशो ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दिया।

Published by Shivani Awasthi Published: October 6, 2020 | 9:04 am
jaunpur BDC member murdered shot dead police investigation

यूपी में फिर कत्लेआम (File Photo)

जौनपुर। थाना केराकत कोतवाली क्षेत्र के मनियरा मोड़ पर हुए गोली कान्ड और हत्या की घटना ने एक बार फिर पुलिसिया कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर दिया है। बाइक सवार बदमाशो ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर बीडीसी सदस्य को मौत के घाट उतार दिया है । इस सनसनीखेज वारदात से पूरे जिले में हड़कंप मच गया है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर अब पड़ताल कर रही है। परिजनों के अनुसार मृतक का किसी से कोई दुश्मनी भी नही था इसके बावजूद उसका बदमाशो ने बेरहमी से कत्ल कर दिया।

बदमाशों ने बीडीसी सदस्य पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं

उत्तर प्रदेश के जौनपुर के केराकत थाना क्षेत्र के मुरलीपुर गांव के निवासी शैलेन्द्र यादव रात करीब आठ बजे स्टेशन रोड अपने डेयरी से घर जा रहे थे, तभी मनियरा मोड़ के पास बाइक सवार बदमाशो ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दिया। बदमाशो के जाने के बाद शैलेन्द्र को पास के अस्पताल ले जाया गया जहां पर उनकी हालत देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।  अस्पताल पहुंचने पर डाक्टरो ने उन्हे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस अधीक्षक शहर डॉ संजय कुमार मौके पर

घटना के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक शहर डॉ संजय कुमार ने बताया केराकत थाना क्षेत्र के मुरलीपुर गांव का मामला है एक तहरीर प्राप्त हुई है जहां एक युवक को गोली मारी गई है स्थानीय अस्पताल में उपचार के बाद उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है जहां उनकी मौत हो गई है मामला दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है अभी परिवार वाले कुछ नहीं बता पा रहे हैं।वही इस मामले में डॉक्टर आरबी यादव ने बताया कि यहां पर मुरलीपुर गांव का एक युवक महेंद्र यादव यहां लाया गया था जिसकी पहले ही से मौत हो चुकी थी।

ये भी पढ़ेंः थर्रा उठा लद्दाख: इधर-उधर भागने लगे लोग, भूकंप से डरेे वैज्ञानिक भी

सरकारी स्वास्थ्य केंद्र में नहीं मिला कोई डॉक्टर

घटना के संबंध में मृतक के भतीजे सूरज यादव ने बताया कि गांव के ही एक आदमी ने आकर बताया कि महेन्द्र चाचा को चोट लग गयी है ।जब तक वहां पहुंचे तो पता चला कि यह आधा घंटा पहले का मामला है। हम लोग सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे जहां कोई डॉक्टर नहीं था। एक आदमी ने कहा इसे तुरंत जिला अस्पताल रेफर कर दो। हम लोग जिला अस्पताल लेकर आ रहे थे कि रास्ते में मुफ्तीगंज के पास ही उनकी मौत हो गई। गोली किसने मारी हमलोग इसके बारे में कुछ नही जानते है।

कपिल देव मौर्य जौनपुर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App