Top

सैनिकों का फूटा गुस्साः ड्यूटी पर सेना के जवान से दुर्व्यवहार, उठी कार्रवाई की मांग

समथर थानेदार व स्टॉफ द्वारा श्रीनगर, उग्रवादी क्षेत्र में रहकर देशहित में अपनी जान की बाजी लगाकर देश सेवा कर रहे जवान से गाली गलौज कर दुर्व्यवहार किया।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 29 Aug 2020 3:39 PM GMT

सैनिकों का फूटा गुस्साः ड्यूटी पर सेना के जवान से दुर्व्यवहार, उठी कार्रवाई की मांग
X
सेना के जवान से दुर्व्यवहार, उठी कार्रवाई की मांग
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झाँसी: समथर थानेदार व स्टॉफ द्वारा श्रीनगर (अनंतनाग) उग्रवादी/आतंकवादी क्षेत्र में रहकर देशहित में अपनी जान की बाजी लगाकर देश सेवा कर रहे सेना के जवान से गाली गलौज कर दुर्व्यवहार किया। इस मामले में पूर्व सैनिकों के प्रतिनिधिमंडल ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर समथर थानेदार और स्टॉफ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। वहीं, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ग्रुप कैप्टन एम याकूब ने मंडलायुक्त और आईजी को पत्र लिखकर जांच कराए जाने की मांग की है।

ये भी पढ़ें: लखनऊ में डबल मर्डर: मौके पर पहुंची डॉग स्क्वाड की टीम, देखें तस्वीरें

थानाध्यक्ष और स्टॉफ के खिलाफ कार्रवाई की मांग

पूर्व सैनिकों का एक प्रतिनिधिमंडल आर डी फौजी के नेतृत्व में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने एसएसपी को अवगत कराया है कि मध्य प्रदेश के भिण्ड के थाना दबोह के ग्राम छान निवासी रविन्द्र राठौर बीते रोज समथर थाना क्षेत्र में गया था। वहां पर समथर थानाध्यक्ष और स्टॉफ से गाली गलौज कर दुर्व्यवहार किया। यह जवान श्रीनगर (अनंतनाग) उग्रवादी/आतंकवादी क्षेत्र में रहकर देशहित में अपनी जान की बाजी लगाकर देश सेवा कर रहा है। यही नहीं, मारपीट भी की गई है। प्रतिनिधिमंडल ने समथर थानाध्यक्ष और स्टॉफ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

File Photo

वहीं सूबेदार आर डी फ़ौजी ने सुझाव रखा कि सेना के जवान घर से दूर दुर्गम पहाड़ियों और विपरीत परिस्थितियों मे दुश्मनों से युद्ध करते है तो उनके पीछे सभी देश वासियों और ख़ासकर पुलिस का फर्ज बनता है कि उनके परिवारों की सुरक्षा सुनिश्चित करें लेकिन पुलिस सुरक्षा के बजाये उनके साथ असम्मानीय भाषा का प्रयोग करें ये गलत बात है और कहा कि जिले के प्रत्येक थाने मे समस्त सेवारत सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों का एक रजिस्टर तैयार किया जाएं और थाने की पुलिस द्वारा उनसे समय समय पर उनके हाल चाल जाने कि उनको कोई परेशानी तो नहीं है, तभी सैनिकों का मनोबल बढ़ेगा और सीमा पर बिना किसी चिंता के सेवा दे सके।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस में ‘गद्दार’: आवाज उठाने वालों को मिला ‘जयचंद’ का तमगा, दुखी हुए वरिष्ठ नेता

फौजियों के परिवार का ब्यौरा होगा तैयार

इस सुझाव पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने पूर्व सैनिको से कहा कि किसी दिन समस्त सैनिकों के साथ मीटिंग कराए और प्रत्येक थाना क्षेत्र में रह रहे फौजियों के परिवार का पुरा ब्यौरा तैयार कर उनको प्रस्तुत किया जाएं जिससे आगे की कार्यवाही सुनिश्चित हो सके। इस अवसर पर पूर्व सैनिक सूबेदार मेजर राम कुमार, सूबेदार मेजर जनक सिंह, सार्जेंट देवेश खरे, मदन शुक्रे, आर के एस भदौरिया आदि दर्जनों लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट: बी.के. कुशवाहा

ये भी पढ़ें: हिला मुख्यमंत्री आवास: डबल मर्डर की गूंज पहुंची दिल्ली तक, सीएम ने लगाई फटकार

Newstrack

Newstrack

Next Story