चली ताबड़तोड़ गोलियां: खेल बना मौत का कारण, विवाद में युवक की गई जान

दोनो पक्षो में इससे पहले भी कबड्डी खेलने को लेकर विवाद हुआ था और दोनो पक्षो की तरफ से मुकद्दमे भी दर्ज कराए गए थे और उसी विवाद में रवित ने सोशल मीडिया पर कोई पोस्ट वायरल की थी जिसके चलते ही आज युवक की गोली मारकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया

बागपत: यूपी के बागपत जिले में मामूली विवादों के चलते आए दिन लोगो के बीच खून खराबा होने की वारदातों के मामले सामने आ रहे है ताजा मामला कोतवाली बागपत इलाके का है जहां क्षेत्र के गाधी गांव में एक सप्ताह पूर्व कबड्डी खेलने के विवाद के चलते आज फिर दोनो पक्षो के बीच जमकर संघर्ष हुआ है जिसमे एक पक्ष के लोगो ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी है जिसकी सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की तफ्तीश में जुटी है ।

कब सुधरेगा नेपाल: उत्तराखंड के इस हिस्से को लेकर की हरकत, किया ये दावा

ये है मामला

दरअसल आपको बता दे कि मामला कोतवाली बागपत इलाके का है जहां गाधी गांव में रहने वाले रामवीर शर्मा व प्रमोद शर्मा पक्षो के बीच 25 जुलाई को संघर्ष हो गया था ओर दोनो पक्षों की तरफ से कोतवाली में 20 लोगो के खिलाफ मुकद्दमा भी दर्ज कराया गया था लेकिन उसके बाद आज फिर से एक पक्ष के लोगो ने दूसरे पक्ष के सुरेंद्र शर्मा के बेटे रवित नाम के युवक की गोली मारकर हत्या उस वक्त कर दी|

जब वह शावन के आखिरी सोमवार का हवन यज्ञ कराकर अपने घर लौट रहा था और दर्जनों लोगों ने उसपर हमला करते हुए गोली मारकर उसकी हत्या कर दी । सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंच कर मामले की तफ्तीश में जुटे है ।

राम मंदिर की तैयारियां: अयोध्या पहुंचे सीएम योगी, राम की पैड़ी का किया निरीक्षण

पहले भी हो चुका है विवाद

फिलहाल एसपी बागपत अजय कुमार का कहना है कि दोनो पक्षो में इससे पहले भी कबड्डी खेलने को लेकर विवाद हुआ था और दोनो पक्षो की तरफ से मुकद्दमे भी दर्ज कराए गए थे और उसी विवाद में रवित ने सोशल मीडिया पर कोई पोस्ट वायरल की थी जिसके चलते ही आज युवक की गोली मारकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया है । पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी ।

रिपोर्टर- पारस जैन, बागपत

IAS-IPS भाई-बहन: ऐसे पास की UPSC परीक्षा, बने सर्वोच्च अधिकारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App