प्रेमिका से शादी के लिए बन गया हैवान और कर डाला ये कांड

नौबस्ता थाना क्षेत्र स्थित मछरिया में रहने वाले अमित उर्फ लालू पत्नी सुमन (26) और बेटे निश्चय (06) के साथ रहता था । अमित का खुशी नाम की महिला से बीते 2015 से प्रेम प्रसंग चल रहा था । अमित खुशी से शादी करना चाहता था उसने पत्नी को घर से निकालने  के कई रास्ते अपनाए ।

कानपुर: आठ  माह पहले प्रेमिका के लिए पति ने पत्नी और 6 साल के बेटे की बेरहमी से हत्या कर दी । नौबस्ता पुलिस ने डबल मर्डर का खुलास करते हुए महिला के पति को उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया है । महिला का पति पत्नी और बच्चों को प्रयागराज गंगा स्नान कराने के बहाने ले गया था । इसके बाद उसने अपने दो साथियों के साथ  मिलकर चलती लोडर में पत्नी पर तेजाब डालकर पत्नी की हत्या कर दी ।

पिता की ये करतूत देखकर बच्चा सहम गया । पिता ने इसके बाद बच्चे को भी नहीं छोडा और उसके सिर पर भारी वस्तु से प्रहार कर मौत की नींद सुला दिया । दोनों  शवों  को कौशांबी हाईवे के किनारे फेंक दिया था ।

ये भी देखें : लखनऊ: धारा- 370 हटाने का विरोध कर रहे डा. संदीप पाण्डेय को नजरबंद करने पर वामवंथियों में नाराजगी

अमित का खुशी नाम की महिला से बीते 2015 से प्रेम प्रसंग चल रहा था

नौबस्ता थाना क्षेत्र स्थित मछरिया में रहने वाले अमित उर्फ लालू पत्नी सुमन (26) और बेटे निश्चय (06) के साथ रहता था । अमित का खुशी नाम की महिला से बीते 2015 से प्रेम प्रसंग चल रहा था । अमित खुशी से शादी करना चाहता था उसने पत्नी को घर से निकालने  के कई रास्ते अपनाए । लेकिन वो अमित को छोड़ने के लिए तैयार नहीे थी । अमित ने सुमन और बच्चे को रास्ते से हटाने के लिए अपने दो साथियों संजय शर्मा और गुड्डू मिस्त्री के साथ मिलकर प्लान तैयार किया ।

एसपी साउथ रवीना त्यागी ने बताया कि 31 जुलाई 2019 को मृतका सुमन के पिता ने नौबस्ता थाने में बेटी और नाती को पति अमित द्वारा गायब कराए जाने का मुकदमा पंजिकृत कराया था । जब इस मुकदमें की जांच की गई तो चैकाने वाला खुलासा हुआ । आरोपी ने प्रेमिका के लिए पत्नी और बच्चे की हत्या की थी ।

ये भी देखें : आखिर यूपी पुलिस ने ले लिया साथियों का बदला, आरोपी का किया ये हाल

जब घटना की जांच की गई तो आरोपी प्रेमिका के साथ किराए के मकान में रहा था । अमित को पकड़कर थाने लाया गया और सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि हमारे प्रेम संबधो मे पत्नी रोड़ा बनी थी । इस लिए उसकी और बच्चे की हत्या की थी ।

कैसे घटना को दिया अंजाम

एसपी साउथ रवीना त्यागी ने बताया कि अमित ने संजय शर्मा और गुड्डू मिस्त्री के साथ मिलकर हत्या का प्लान तैयार किया था । प्लान के तहत अमित ने पत्नी और बच्चे को प्रयागराज में गंगा स्नान के लिए तैयार किया था । 24 दिसंबर 2018 को आरोपी पत्नी बच्चे को लेकर प्रयागराज के लिए निकला था । उसने दोनो साथियों संजय और गुड्डू मिस्त्री को छोटा हाथी लोडर लेकर बुला लिया था।

24 दिसंबर की रात 9ः30 बजे सभी प्रयागराज के लिए निकले थे । गुड्डू लोडर चला रहा था और संजय उसके बगल में बैठा था । पीछे डाले में अमित पत्नी और बच्चे के साथ बैठा था । सभी ने रास्ते में ढाबें पर खाना खाया और शराब पी थी ।

ये भी देखें : 15 अगस्त स्पेशल : वीर क्रांतिकारियों ने जेल में ही रच दिया था इस जोशीले गीत को

रात लगभग 2 बजे लोडर जनपद कौशांबी के कोखराज के पास पहुंचा तो तीनो ने सुमन को दबोच लिया और उसपर तेजाब डाल दिया । कुछ देर तड़पने के बाद सुमन की मौत हो गई । इसके बाद बच्चे के सिर को कई बार लोडर से भिड़ाया और भारी वस्तु से हमला कर के उसकी भी हत्या कर दी । इसके बाद दोनो के शवो को हाईवे किनारे फेंक दिया था । तीनो प्रयागराज स्नान के लिए चले गए थे ।

वहां से लौटने के बाद अमित ने पत्नी और बच्चे की गुमशुदगी दर्ज कराई थी । अमित ने इस काम के संजय को 35 हजार रुपए दिए थे ।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App