×

कृषि बिल में ऐसा कुछ भी नहीं है जो काला कानून कहा जाए: मुख्तार अब्बास नकवी

किसानों के कंधे पर बन्दूक के जरिये देश को बदनाम करने और किसानों के हितों का अपहरण करने की साजिश की जा रही है।कुछ लोगों का "सामंती गुरुर- सत्ता का सुरूर' अभी भी नहीं उतरा,रस्सी जल गई-बल नहीं गया।

suman

sumanBy suman

Published on 6 Feb 2021 2:42 PM GMT

कृषि बिल में ऐसा कुछ भी नहीं है जो काला कानून कहा जाए: मुख्तार अब्बास नकवी
X
उत्तर प्रदेश के कानपुर में शनिवार को सर्किट हाउस में आयोजित प्रेस वार्ता में वरिष्ठ भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार का पक्ष रखते हुए
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर : उत्तर प्रदेश के कानपुर में शनिवार को सर्किट हाउस में आयोजित प्रेस वार्ता में वरिष्ठ भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार का पक्ष रखते हुए कहां की बिल में ऐसा कुछ भी नहीं है जो इसे काला कानून कहा जाए क्योंकि न तो एमएसपी खत्म होगी और न ही मंडियां। उन्होंने कहा कि अमेरिका की किसी पाॅप स्टार के एक ट्वीट से हमें कोई फर्क नहीं पड़ता और हमें अपनी ईमानदारी को सिद्ध करने के लिए किसी भी अंतरराष्ट्रीय संस्था के प्रमाण पत्र की जरूरत भी नहीं है।

सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल

उन्होंने विपक्ष पार्टी का बगैर नाम लिए कहा कि तथाकथित असहिष्णुता पर बवाल तो कभी सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल तो कभी CAA पर भ्रम तो कोरोना काल में लोगों की सेहत सलामती के लिए किये गए कामों पर पलीते का प्रयास और अब कृषि कानूनों पर किसानों के कंधे पर बन्दूक के जरिये देश को बदनाम करने और किसानों के हितों का अपहरण करने की साजिश की जा रही है।कुछ लोगों का "सामंती गुरुर- सत्ता का सुरूर' अभी भी नहीं उतरा,रस्सी जल गई-बल नहीं गया।

यह पढ़ें...कल अयोध्या जाएंगे CM योगी आदित्यनाथ, चल रहे विकास कार्यों की करेंगे समीक्षा

मोदी और एनडीए पर विश्वास जताया

तमाम दुष्प्रचारों- पॉलिटिकल पलीते के बावजूद जनता ने 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और एनडीए पर विश्वास जताया,प्रचंड बहुमत से सरकार बनी 2019 में दोबारा उससे बढकर जनादेश दिया।इस दौरान हुए विधानसभा,पंचायत, स्थानीय निकाय चुनावों में मोदी सरकार की नीतियों पर मुहर लगाई है।वरिष्ठ भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने केंद्रीय बजट 2021-22 को लेकर कहा कि बजट में सभी तबकों का सम्मान के साथ सशक्तिकरण"सुनिश्चित कर आत्मनिर्भर भारत के सफल सफर का हम सफर है।

mukhtar

शैक्षिक सशक्तिकरण

समाज के सभी जरूरतमंदों के सामाजिक, आर्थिक,शैक्षिक सशक्तिकरण और सेहत-सलामती के संकल्प से भरपूर है केंद्रीय बजट।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का यह बजट निवेशकों, उद्योग और बनियादी ढांचे के क्षेत्र ने भी सकारात्मक बदलाव लाएगा।नकवी ने कहा कि यह बजट देश को कोरोना की चुनौतियों से मजबूती से लड़ कर हर क्षेत्र में विकास की नई कहानी लिखने के लिए तैयार करेगा। सभी वर्गो के गरीब,किसानों युवाओं,बुजुर्गो,महिलाओं, मजदूरों, छोटे व्यापारियों की आशा व आकांक्षाओं को पूरा करने वाला बजट है।

यह पढ़ें...हमीरपुर: एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन, किशोरियों को दी गयी ये जानकारी

आम बजट 2021-22 में इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास पर विशेष ध्यान दिया गया है; स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार को आगे बढ़ाया गया है, एमएसएमई सेक्टर को मजबूती प्रदान की गई है।शिक्षा एवं अनुसन्धान पर विशेष ध्यान दिया गया है जो देश में रोजगार सृजन में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा।

रिपोर्ट-अविनाश कुमार

suman

suman

Next Story