Top

विकास दुबे कांड: इन 90 अधिकारियों की आई शामत, SIT ने सरकार से की ये मांग

एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट कहा है कि इन सभी अधिकारियों ने विकास दुबे की अवैध संपत्ति बनाने में सहायता की है। एसआईटी ने सरकार को अपनी 3100 पेज की रिपोर्ट दी है जिसमें कहा है कि इन सभी अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए और कानून के तहत सजा देनी चाहिए।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 2 Dec 2020 5:33 AM GMT

विकास दुबे कांड: इन 90 अधिकारियों की आई शामत, SIT ने सरकार से की ये मांग
X
एसआईटी ने बिकरू कांड के मास्टरमाइंड रहे विकास दुबे की 150 करोड़ रुपये की संपत्ति की प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) से जांच करने की सिफारिश की है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के कानपुर के बिकरू में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या की जांच करने वाली एसआईटी ने बड़ा कदम उठाया है। एसआईटी ने बिकरू कांड के मास्टरमाइंड रहे विकास दुबे की 150 करोड़ रुपये की संपत्ति की प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) से जांच करने की सिफारिश की है। इसके अलावा एसआईटी ने सरकार को इस मामले की पूरी विस्तृत रिपोर्ट दी है। इसमें नौ बिंदुओं को आधार बनाया गया है।

बिकरू कांड के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने एनकाउंटर में विकास दुबे की ढेर कर दिया था। इसके बाद सरकार की तरफ से तीन सदस्यीय टीम का गठन किया गया था। एसआईटी ने इस मामले में प्रदेश सरकार से कुल 90 पुलिसकर्मियों और अन्य डिपार्टमेंट के अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट कहा है कि इन सभी अधिकारियों ने विकास दुबे की अवैध संपत्ति बनाने में सहायता की है। एसआईटी ने सरकार को अपनी 3100 पेज की रिपोर्ट दी है जिसमें कहा है कि इन सभी अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए और कानून के तहत सजा देनी चाहिए।

ये भी पढ़ें...गोरखपुर: दुकान में लगी भीषण आग, मची अफरा-तफरी, लाखों का सामान जलकर खाक

बता दें कि एसआईटी ने इस रिपोर्ट को अक्टूबर में ही जमा कर दिया गया था, लेकिन सरकार ने हाल ही में इसे रिसीव किया है। इसमें दावा किया गया है कि स्थानीय अधिकारियों ने विकास दुबे के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कीह, बल्कि इन्होंने फर्जी सिम, हथियार, पासपोर्ट, नकली डॉक्यूमेंट तैयार करने में विकास दुबे की सहायता की।

ये भी पढ़ें...अक्षय कुमार ने CM योगी से की मुलाकात, इस मुद्दे पर हुई बातचीत

इन अधिकारियों ने ही गैंग को तैयार करने में मदद की है जिसके कारण कड़ा कार्रवाई जरूरी है। इसके साथ ही एसआईटी ने करीब 150 करोड़ रुपये की संपत्ति पर ईडी से कार्रवाई की मांग की है। यूपी सरकार पहले भी एसआईटी की सिफारिश पर कई पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की है।

ये भी पढ़ें...रायबरेली में बड़ा हादसा: दो लोगों की मौत, कई घायल, मचा हाहाकार

गौरतलब है कि कानपुर के बिकरू गांव में रेड करने की पुलिस टीम पर विकास दुबे ने साथियों के साथ मिलकर हमला कर दिया था जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इसके बाद पुलिल ने करीब एक हफ्ते की विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से पकड़ा था। कानपुर लाते समय उसने रास्ते में ही पुलिस की हिरासत से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने एनकाउंटर में उसको ढेर कर दिया।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story