Top

दहल उठा KGMU: कुलपति कोरोना की चपेट में, हुए होम आइसोलेशन

यूपी में कोरोना संक्रमण के शिकंजे से मंत्रियों, प्रशासनिक अधिकारियों के बाद अब चिकित्सक भी नहीं बच पा रहे है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 21 Aug 2020 7:58 AM GMT

दहल उठा KGMU: कुलपति कोरोना की चपेट में, हुए होम आइसोलेशन
X
दहल उठा KGMU: कुलपति कोरोना की चपेट में, हुए होम आइसोलेशन
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूपी में कोरोना संक्रमण के शिकंजे से मंत्रियों, प्रशासनिक अधिकारियों के बाद अब चिकित्सक भी नहीं बच पा रहे है। राजधानी लखनऊ के किंग जार्ज मेंडिकल विश्वविद्यालय के कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए है और फिलहाल वह होम आइसोलेशन में है। इसके अलावा केजीएमयू के एक फिजीशियन डा. वीवी त्रिपाठी और एक अन्य कार्डियोंलाजिस्ट के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर भी मिली है।

ये भी पढ़ें:सुशांत का CCTV फुटेज: बंदर पुलिस ने CBI को सौपे अहम सबूत, जल्द होगा खुलासा

दहल उठा KGMU: कुलपति कोरोना की चपेट में, हुए होम आइसोलेशन

डॉ. बिपिन पुरी के ड्राइवर और एक अन्य स्टाफ की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई

प्राप्त जानकारी के मुताबिक केजीएमयू कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी के ड्राइवर और एक अन्य स्टाफ की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस पर कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी ने खुद की भी जांच कराई तो उनकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डा. बिपिन पुरी में कोविड-19 के किसी तरह के लक्षण नहीं हैं और वह पूरी तरह से स्वस्थ महसूस कर रहे हैं। फिलहाल एहतियात के तौर पर उन्होंने स्वयं को होम आइसोलेशन में रखा हैं। कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी ने अपील की है कि उनके पिछले दिनों उनके संपर्क में जो लोग आए हैं, वे भी सावधानी के तौर पर अपनी जांच करा लें या चिकित्सीय परामर्श ले लें।

ये भी पढ़ें:अतीक अहमद पर बवाल: जान से मार डालूंगा, CMO को ड्राइवर ने दी ऐसी धमकी

दहल उठा KGMU: कुलपति कोरोना की चपेट में, हुए होम आइसोलेशन

बता दे कि इससे पहले कोरोना संक्रमण की शुरूआत में बीते मार्च माह में ही केजीएमयू के एक जूनियर डाक्टर और एक महिला डाक्टर को भी कोरोना संक्रमण हुआ था। जबकि अप्रैल माह में मुरादाबाद में तब्लीगी जमातियों के सर्वे टीम में शामिल यूनानी डाक्टर डॉ. निजामुद्दीन की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई थी। उनकी मौत के बाद उनके परिवार की दो और महिलाओं को भी कोरोना संक्रमण हुआ था। अप्रैल माह में ही आगरा के एसएन मेडिकल कालेज के एक चिकित्सक भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसी तरह बुलंदशहर में भी एक नेत्र चिकित्सक में कोरोना की पुष्टि हुई थी।

मनीष श्रीवास्तव

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story