कोविड-19: आयुक्त ने अस्पताल का किया दौरा, अधिकारियों को दिए ये दिशा-निर्देश

शासन से प्राप्त निर्देश के अनुपालन में कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत स्वास्थ्य सुविधाओं के सम्बन्ध आयुक्त विन्ध्याचल मडल प्रीति शुक्ला, आईजी पीयूष श्रीवास्तव, डीएम सुशील कुमार पटेल, पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने शनिवार को मण्डलीय अस्पताल में स्थित ट्रामासेंटर के नवीन भवन में कोविड-19 के दृष्टिगत निरीक्षण किया।

Published by Ashiki Patel Published: May 30, 2020 | 8:33 pm
Modified: May 30, 2020 | 8:34 pm

मीरजापुर: शासन से प्राप्त निर्देश के अनुपालन में कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत स्वास्थ्य सुविधाओं के सम्बन्ध आयुक्त विन्ध्याचल मडल प्रीति शुक्ला, आईजी पीयूष श्रीवास्तव, डीएम सुशील कुमार पटेल, पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने शनिवार को मण्डलीय अस्पताल में स्थित ट्रामासेंटर के नवीन भवन में कोविड-19 के दृष्टिगत निरीक्षण किया।

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड में फंसा इंग्लैंड का ये शख्स, ऐसे बिता रहा जीवन, कर रहा ये काम

निरीक्षण के दौरान कोविड-19 संकटकाल में स्वास्थ्य सुविधा सुनिश्चित कराने एवं उसके सम्बन्ध में बेड, आईसीयू, आक्सीजन, वेंटीनलेटर एवं अन्य उपकरणों के सम्बन्ध में अपर निदेशक स्वस्थ्य एवं मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. ओपी तिवारी के साथ चर्चा की गयी। इस दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी ने जिलाधिकारी को बताया कि एल-3 के लिये 10 वेड आईसीयू एवं 30 सामान्य वेड कुल 40 वेड के लिये तैयारियां की जा रही हैं। निरीक्षण के दौरान आयुक्त द्वारा जिला अस्पताल के विभिन्न कक्षों का भी निरीक्षण किया गया।

प्रवासियों का नाम व नम्बर नोट किया जाय

मण्डलायुक्त जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा अधिकारियों के साथ क्वारंटाइन सेन्टर शिवलोक श्रीनेत शिक्षण संस्थान पडरी का भी निरीक्षण किया गया। नोवेल कोरोना-19 के दृष्टिगत लाकडाउन के दौरान विभिन्न प्रान्तो व बाहर के जनपदों से आने वाले प्रवासियों के लिये जिला प्रशासन के द्वारा शिवलोक श्रीनेत शिक्षण संस्थान पडरी में बनाये गये क्वारंटाइन सेन्टर में जाकर क्वारंटाईन सेन्टर के किचेन, वहां पर चिकित्सकों के द्वारा किये जा रहे स्वास्थ्य परीक्षण, राशन वितरण एवं राशन किट आदि का निरीक्षण किया गया।

ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्री ने जिला चिकित्सालय का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

इस दौरान आयुक्त द्वारा उप जिलाधिकारी सदर को निर्देशित किया गया कि क्वारंटाइन सेन्टर में जो भी प्रवासी आये उनका नाम व पता तथा मोबाइल नम्बर अवश्य नोट किया जाये उनका पूरा विवरण रखा जाये।

खाने को लेकर की पूछताछ

निरीक्षण के दौरान आयुक्त द्वारा किचेन के रसाइयों से वार्ता कर अनाये जा रहे खाना आदि के बारे में जानकारी ली गयी। इसी दौरान आये हुये कई प्रवासी से भी आयुक्त व आईजी के द्वारा मिल रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की गयी। निरीक्षण के दौरान बाहर से आये हुये भारी संख्या में प्रवासी मौके पर खाना खा रहे थे।आयुक्त द्वारा खाना का निरीक्षण किया गया।

ये भी पढ़ें: अभी-अभी लॉकडाउन 5 का एलान, 30 जून तक घर में रहना होगा बंद

उन्होने कहा कि आने वाले सभी प्रवासियों का विधिवत स्वास्थ्य परीक्षण, खाना व जाने के लिये बसों को समय से उपलब्ध कराया जाये। इस दौरान अपर निदेशक स्वास्थ्य, मुख्य चिकित्साधिकारी डा ओपी तिवारी, अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश स्वरूप पाण्डेय, उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

मनरेगा के तहत आने वाले प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने का निर्देश

जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला योजाना एवं मनरेगा के तहत जिले में ग्राउण्ड वाटर रिचार्जिग चेकडैम के निर्माण एवं मरम्मत के सबंन्ध में जिला स्तरीय समन्वय समिति बैठक लघु सिंचाई विभाग के द्वारा बैठक आहूत की गयी।

ये भी पढ़ें: 1 जून से 30 जून तक पूरे देश में लॉक डाउन 5.0 हुआ लागू, जारी हुई गाइडलाइन

इस बैठक में नये चेकडैम के निर्माण एवं पुराने चेकडैमों व बन्धियों के निर्माण के सम्बन्ध में सिंचाई विभाग, लघु सिचाई सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों से चर्चा की गयी। इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि चेकडैम निर्माण का प्रस्ताव सम्बधित विभाग अधितमक तीन दिवस के अन्दर हार्ड एवं साफ्ट कापी में उपलब्ध करायें। जिस कारण शासन को अवगत कराया जा सके।

रिपोर्ट: बृजेन्द्र दुबे

ये भी पढ़ें: मंत्री हर जगह उपलब्धियां गिना रहे, लॉकडाउन की कोई उपलब्धि नहीं: असदुद्दीन ओवैसी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App