योगी सरकार ने लिए कई अहम फैसले, लॉक डाउन में जारी रहेगी फूड की होम डिलेवरी

कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश के बाद पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है।

लखनऊ: कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश के बाद पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है। इस दौरान आम जनता को कोई समस्या न हो इसको ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

इसके तहत मंडी परिषद एवं मंडी समितियों द्वारा अन्य राज्यों एवं भारत सरकार के समन्यव से ऐसी आवश्यक खाद्य सामग्री जिसकी आपूर्ति अन्य राज्यों से होती है, उसकी आवक पर निगरानी रखी जाएगी।

उत्पादन एवं विपणन एसोसिएशन के माध्यम से जिलों मे आवश्यक खाद्य सामग्री सप्लाइ चेन में इनका उपयोग किया जाएगा।

यह भी पढ़ें…PM मोदी का बड़ा एलान, भारत को बचाने के लिए रात 12 बजे से देश में लाॅकाडाउन

होम डिलेवरी करने वाले होटल, रेस्टोरेंट और डिब्बा फूड को बढ़ावा दिया जाएगा, लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा कि इन जगहों पर आम लोग एकत्र न होने पाए।

यह भी पढ़ें…वित्त मंत्री ने वर्ष 2018-19 के लिए रिटर्न दाखिल करने की तारीख 30 जून की

प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को यह निर्देशित किया गया है कि वह पुलिस आयुक्त/एसएसपी/एसपी से समन्यव करते हुए ड्यूटी पर कार्यरत पुलिस अधिकारी एवं कार्मिकों को डोर-स्टेप व्यवस्था की समुचित जानकारी उपलब्ध कराएं और व्यवस्था का संचालन सुचारू रूप से कराए जाने में सहयोग हेतु लोगों को प्रेरित कराएं।

यह भी पढ़ें…कोरोना संकट: सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, की ये बड़ी मांग

सभी जिलों में स्थापित होने वाले कंट्रोल रूम में आवश्यक खाद्य सामग्री की आपूर्ति के लिए मंडी, दुग्ध, कृषि, उद्यान, पशुपालन, खाद्य आपूर्ति के अधिकारियों की स्थानीय स्तर पर कुशल समन्वय एवं प्रबंधन के लिए ड्यूटी लगाई जाए। इस बाबत बने कंट्रोल रूम का नम्बर नागरिकों में प्रसारित किया जाए ताकि जिला प्रशासन को भी उक्त व्यवस्था में बेहतर प्रबंध के लिए जनता से फीडबैक प्राप्त हो सके।