यूपी में कल से दौड़ेंगी रोडवेज की बसें, यात्रियों को करना होगा इन नियमों का पालन

हर बस स्टेशन पर कोविड हेल्प डेस्क स्थापित की गई है। यहां यात्रियों को कोरोना वायरस से बचाव व सावधानियों के संबंध में जानकारी दी जायेगी।

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ। प्रदेश सरकार से अनुमति मिलने के बाद लाकडाउन-5.0 में उप्र. परिवहन निगम ने अपनी बसों को चलाने की तैयारी पूरी कर ली है। आगामी पहली जून से प्रदेश के अंदर अन्र्तजनपदीय बस सेवा शुरू कर दी जायेगी। परिवहन निगम ऐसे सभी मार्गों पर बसों का संचालन करेगा जहां लोड फैक्टर 60 प्रतिशत से ज्यादा है। इसके साथ ही परिवहन निगम ने बसों के संचालन के लिए सभी कर्मचारियों की उपस्थिति का भी प्रबंध कर रहा है।

बिना मास्क नही कर सकेंगे यात्रा

परिवहन विभाग के प्रबंध निदेशक डा. राजशेखर ने रविवार को बताया कि स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए यात्रियों से जुडे़ हर प्वाइन्ट पर थर्मल गन की व्यवस्था की गई है। इससे बस स्टेशन आने वाले हर यात्री की थर्मल स्कैनिंग की जायेगी। इसके साथ ही बस स्टेशनों पर अनावश्यक खुले स्थानों को बैरीकेडिंग से बंद किया जाए। सभी बस स्टेशनों पर यात्रियों की सुरक्षा के लिए हैंड सैनिटाइजर, हैंड फ्री स्प्रे सैनिटाइजर तथा पैडल प्रेस सैनिटाइजर की व्यवस्था कीी गई है। इसके लिए सभी पब्लिक विंडों पर 500 एमएल. की हैंड सैनिटाइजर बोतल भी उपलब्ध कराई जा रही है। निगम के सभी बस स्टेशनों की नियमित सफाई व सैनिटाइजेशन का काम हर 6 घंटे पर किया जायेगां।

ये भी पढ़ेंः UP की गाइडलाइंस जारी: शुरू हो रही ये सभी सुविधाएं, CM योगी ने की घोषणा

हर बस स्टेशन पर बनेगी कोविड हेल्प डेस्क

उन्होंने बताया कि हर बस स्टेशन पर कोविड हेल्प डेस्क स्थापित की गई है। यहां यात्रियों को कोरोना वायरस से बचाव व सावधानियों के संबंध में जानकारी दी जायेगी। बस स्टेशन पर लगातार कोरोना वायरस के संबंध में जानकारी प्रसारित की जायेगी। इसके साथ ही कोरोना वायरस से प्रचार-प्रसार के लिए होर्डिंग, पोस्टर व बैनर भी लगाये गये है।

ये भी पढ़ेंः श्रमिकों को रोजगार: यूपी सरकार ने की तैयारी, एक्सप्रेस-वे निर्माण में मिलेगा काम

जिलों में बसों के संचालन के लिए यूपी परिवहन निगम ने की पूरी तैयारी

परिवहन निगम के मार्ग पर पड़ने वाले सभी अधिकृत कैंटीन और मार्ग पर अधिकृत अनुबंधित फूड प्लाजा तथा ढ़ाबों को सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स के अनुसार ही संचालन करने दिया जायेगा। लंबी दूरी की बसों को यात्रा शुरू करने से पहले 13 बिंदु परीक्षण जरूरी होगे। लंबी दूरी की बसों पर दो चालकों की तैनाती होगी और यात्रा से पहले इनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा। निगम का मार्ग निरीक्षण व चेकिंग दल लगातार अपनी टीम के साथ बस निरीक्षण के समय किसी भी तरह की अनियमितता पाए जाने पर उच्च प्रबंधन को सूचित करेंगे।

ये भी पढ़ेंः जानें, आपके राज्य में कितनी छूट- क्या प्रतिबन्ध, यहां पूरी जानकारी

परिवहन निगम की बसों में क्षमता के मुताबिक यात्री करेंगे सफर

एमडी के मुताबिक परिवहन निगम की बसों में निर्धारित सीट क्षमता के अनुसार ही यात्रियों को बैठाया जायेगा और बस में खड़े हो कर सफर नहीं किया जा सकता है। बसों के चालक व परिचालकों को मास्क व ग्लबस पहनना जरूरी होगा। यात्रियों को भी मास्क पहनना अनिवार्य होगा। बसों का नियमित सैनिटाइजेशन किया जायेगा। बस स्टेशन पर 108 एंबुलेंस रहनी आवश्यक है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।