लोहिया अस्पताल के CMS पर गिरी गाज: योगी के दौरे के वक्त थे गायब, मिली ये सजा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधीक्षक देवाशीष शुक्ला मौजूद नहीं थे

सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल का निरीक्षण, देखें तस्वीरें

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ। स्वास्थ्य विभाग ने राजधानी लखनऊ स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक देवाशीष शुक्ला हटा दिया है। अब प्रो. राजन भटनागर राम मनोहर लोहिया अस्पताल के नए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक बनाया गया है। इस पूरे मामलें को बुधवार को मुख्यमंत्री के अस्पताल के औचक निरीक्षण से जोड़ कर देखा जा रहा है।

सीएम योगी का लोहिया अस्पताल में औचक निरीक्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने बुधवार को डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान का आकस्मिक निरीक्षण किया था। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आमजन से संवाद स्थापित करते हुए अस्पताल की सेवाओं की जानकारी प्राप्त की तथा चिकित्सकों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री के दौरे के समय गैर हाजिर थे सीएमएस देवाशीष शुक्ला

इस दौरान लोहिया अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक देवाशीष शुक्ला वहां मौजूद नहीं थे। बताया जा रहा है कि कोरोना काल में अस्पताल में मुख्य चिकित्साा अधीक्षक की गैरहाजिरी पर मुख्यमंत्री ने नाराजगी प्रकट की थी।

ये भी पढ़ेंः UP में लाखों लोगों को मिलेगी नौकरी, ये बड़ा कदम उठाने जा रही योगी सरकार

लोहिया अस्पताल के सीएमएस हटाये गये

बता दे कि कोरोना संकट से लड़ाई में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी ताकत के साथ लड़ रहे है। लाकडाउन की समीक्षा हो या कोविड़ अस्पतालों की देखरेख या फिर दूसरे प्रदेशों से आने वाले यूपी के लोगों को सुरक्षित उनके गंतव्य तक पहुंचाने का कार्य हो मुख्यमंत्री योगी अपनी टीम-11 के साथ लगातार नजर बनाये हुए है।

अब मुख्यमंत्री जनता के स्वास्थ्य के लिए दी जाने वाली सुविधाओं की जमीनी हकीकत परखने के लिए न सिर्फ खुद मोर्चे पर जुट गये है। बुधवार को लोहिया अस्पताल का निरीक्षण करने बाद गुरुवार को उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल का भी निरीक्षण किया।

ये भी पढ़ेंः अरबपति हैं इस बैंक के कर्मचारी: नौकरी कर हुए मालामाल, सैलरी जान उड़ जाएंगे होश

प्रो. राजन भटनागर बने नए सीएमएस

मुख्यमंत्री स्वयं तो निरीक्षण कर ही रहे है साथ ही उन्होंने अपने सिपहसालारों को निर्देश दिये हैं कि व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने, जनता से सीधा फीडबैक प्राप्त करते हुए कार्यों की हकीकत को मौके पर परखने के लिए औचक निरीक्षण किए जाएं। मुख्यमंत्री के निरीक्षण के बाद चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह के साथ ही प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने भी विभिन्न चिकित्सालयों का निरीक्षण कर मरीजों से मिलकर उनसे सुविधाओं के बारे में जानकारी ली तथा अस्पतालों को आवश्यक निर्देश दिये।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।