अब दौड़ेगी लखनऊ मेट्रो : LMRC ने शुरू की तैयारी, यात्रियों के लिए ये नियम

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (MRCL) लखनऊ मेट्रो के उत्तर-दक्षिण कॉरीडोर में अडॉप्ट मेट्रो विद सोशल डिस्टेंसिंग के नारे के साथ यात्री सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

lucknow metro, mini shopping zone, will be developed for passengers

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लागू लाकडाउन के कारण 60 दिनों से अधिक समय तक निलंबित रहने के बाद उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (MRCL) लखनऊ मेट्रो के उत्तर-दक्षिण कॉरीडोर में अडॉप्ट मेट्रो विद सोशल डिस्टेंसिंग के नारे के साथ यात्री सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

यात्री सेवा के लिए सरकार के दिशा-निर्देशों का इंतजार: कुमार केशव

प्रबंध निदेशक, यूपीएमआरसीएल की अगुवाई में शुक्रवार को हुई इस विशेष बैठक में देशव्यापी लॉकडाउन के बाद मेट्रो सेवाओं की संचालन निरंतरता के लिए तैयारियां और उनसे संबंधित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई। बैठक में कहा गया कि मेट्रो कर्मचारी सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। सभी मेट्रो अधिकारी और कर्मचारी परिचालन मेट्रो प्रणाली के रखरखाव के लिए निरंतर तत्पर हैं, जिससे यात्रियों को कोई असुविधा न हो। यात्रियों की सुरक्षा और स्वच्छता के लिए यूपीएमआरसी द्वारा कई एहतियाती उपाय और व्यवस्था की गई है ताकि उन्हें एक सहज और सुरक्षित यात्रा प्रदान की जा सके।

स्टेशन और मेट्रो के अंदर की जा रही कोरोना से बचाव की तैयारी

बैठक में प्रबंध निदेशक कुमार केशव विशेष ने कहा कि स्टेशन परिसर और मेट्रो ट्रेनों को पूरी तरह से सैनिटाइज किया जाए तथा यात्रियों के संपर्क में आने वाले सभी स्थानों, टिकट काउंटर, टिकट वेंडिंग मशीन, कस्टमर केयर सेंटर, प्रवेश निकास द्वार, एएफसी मशीन, मेट्रो ट्रेन के अंदर हैंडरेल एस्केलेटर की हैंडरेल इत्यादि, के नियमित अंतराल पर (हर चार से पांच घंटे) सैनिटाइजेशन किया जाए। उन्होंने अडॉप्ट मेट्रो विद सोशल डिस्टेंसिंग का नारा देते हुए सभी यात्रियों से आपस में उचित दूरी बनाए रखने की अपील की।

ये भी पढ़ेंः ट्रेन का सफर करने से बचेंः रेलवे ने यात्रियों से की अपील, सुविधा के लिए शुरू की ये सेवा

मेट्रो संचालन को लेकर कर्मचारियों को दिए गए ये निर्देश

उन्होंने परिचालन अधिकारियों और कर्मचारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि स्टेशन पर तैनात स्टेशन कंट्रोलर (एससी), कस्टमर केयर असिस्टेंट (सीआरए) और सुरक्षाकर्मी मास्क और दस्ताने पहनकर तथा उचित दूरी बनाते हुए ही यात्रियों के संपर्क में आए। यूपीएमआरसी ने मेट्रो स्टेशनों के प्रत्येक वॉशरूम में पहले से ही टिशू पेपर और सैनिटाइजर की उपलब्धता की व्यवस्था की है। मेट्रो परिसर और ट्रेन के अंदर साफ-सफाई बनाए रखने पर भी विशेष जोर दिया जा रहा है।

लखनऊ मेट्रो का फैसला, अगर यात्री के साथ हुआ हादसा तो मिलेगा भरपूर मुआवजा

रोजाना मेट्रो दिन में दो बार होगी सेनिटाइज

प्रबंध निदेशक ने मेट्रो कर्मचारियों को भी सलाह दी कि वे यात्रियों को गो स्मार्ट कार्ड का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करें जो कि वायरस के संक्रमण को कम करने के साथ संपर्क रहित यात्रा का एक उचित माध्यम है। यात्री गो स्मार्ट कार्ड को ऑनलाइन रिचार्ज भी कर सकते हैं और बिना किसी के संपर्क में आए इसका उपयोग कर सुरक्षित यात्रा भी कर सकते हैं। लखनऊ मेट्रो स्टेशन परिसर को हर 4 से 5 घंटे पर सैनिटाइज किया जाएगा और हर मेट्रो ट्रेन को भी दिन में दो बार सेनिटाइज किया जाएगा। इस संबंध में यूपीएमआरसी प्रबंधन ने यात्रियों द्वारा पालन करने के लिए कई अनिवार्य दिशा-निर्देश भी जारी किए।

ये भी पढ़ेंः रेलवे ने बताई ट्रेनों के भटकने की वजह, श्रमिकों की मौतों पर दिया ये बयान

मेट्रो यात्रा के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश –

-मेट्रो से यात्रा करने के लिए सभी को फेस मास्क पहनने होंगे।

-लखनऊ मेट्रो के सभी यात्रियों के लिए अपने मोबाइल फोन में आरोग्यसेतु ऐप होना अनिवार्य है।

-मेट्रो परिसर में कदम रखने से पहले सभी को थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा।

-ट्रेन के अंदर अपने साथी यात्री से एक सीट के गैप पर बैठना होगा।

-एक समय में केवल दो व्यक्तियों को ही लिफ्ट का उपयोग करने की अनुमति होगी।

-सभी को सामाजिक-दूरी बनाए रखने के लिए मेट्रो स्टेशनों पर की गई मार्किंग का पालन करना होगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।