ट्रेन का सफर करने से बचेंः रेलवे ने यात्रियों से की अपील, सुविधा के लिए शुरू की ये सेवा

देश के कई नागरिक इस समय रेल यात्रा करना चाहते हैं एवं उनको निर्बाध रूप से रेल सेवा मिलती रहे, इस हेतु भारतीय रेल का परिवार चौबीसों घंटे, सातों दिन कार्य कर रहा है।

झाँसी। श्रमिकों को अपने गंतव्य तक पहुंचाने हेतु नियमित रूप से श्रमिक स्पेशलों का संचालन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज झाँसी से गोरखपुर तथा वाराणसी एक – एक श्रमिक एक्सप्रेस का संचालन किया गया जिसमें 2800 श्रमिकों को अपने गंतव्य की ओर रवाना किया गया। साथ ही आवश्यकतानुसार/ उपलब्धता के आधार पर भी इन ट्रेनों की व्यवस्था की जा रही है।

2800 श्रमिकों को लेकर रवाना हुई श्रमिक स्पेशल

गोरखपुर जाने वाली गाड़ियां गोंडा एवं बस्ती वाराणसी जं. जाने वाली गाड़ी प्रयागराज तथा भदोही पर भी रूकेगी । इन स्टेशनों पर श्रमिक उतर सकेंगे। श्रमिक यात्रियों के मध्य सामाजिक दूरी के नियम का पालन सुनिश्चित किया जा रहा है। साथ ही यात्रियों को चेहरे पर फेस कवर या मास्क अनिवार्य किया गया है, जिससे कोविड-19 के संक्रमण की संभावना को फैलने से रोका जा सके।

 

श्रमिकों को दिया खानपान

मंडल के सभी प्रमुख स्टेशनों जैसे – झाँसी , ग्वालियर, उरई, बांदा स्टेशन पर श्रमिकों के खानपान, स्नैक्स तथा पानी की उचित व्यवस्था की जा रही है। रेलवे के साथ-साथ आईआरसीटीसी भी खानपान देने हेतु अपना योगदान दे रहा है। आज श्रमिक स्पेशल में कार्मिक विभाग द्वारा भी खाने का वितरण कराया गया। कार्मिक विभाग के कर्मियों अपने स्वयं के योगदान द्वारा श्रमिकों के लिए पूड़ी, सब्जी, अचार, पेठा एवं जल की व्यवस्था की गई।

ये भी पढ़ेंः श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी: अब कर सकेंगे चारों धाम की यात्रा, बस करना होगा ये काम

रेल मंत्रालय की यात्रियों से अपील

भारतीय रेल, देश भर में प्रतिदिन कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है, ताकि प्रवासियों की अपने घरों को वापसी सुनिश्चित की जा सके। यह देखा जा रहा है कि कुछ ऐसे लोग भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं जो पहले से ही ऐसी बीमारियों से पीड़ित हैं जिनसे कोविड़-19 महामारी के दौरान उनके स्वास्थ्य को खतरा बढ़ जाता है। यात्रा के दौरान पूर्व ग्रसित बीमारियों से लोगों की मृत्यु होने के कुछ दुर्भाग्यपूर्ण मामले भी मिले हैं।

ये भी पढ़ेंः रेलवे ने बताई ट्रेनों के भटकने की वजह, श्रमिकों की मौतों पर दिया ये बयान

बीमार यात्री रेलयात्रा करने से बचें

ऐसे कुछ लोगों की सुरक्षा हेतु रेल मंत्रालय, गृह मंत्रालय के आदेश क्रमांक 40-3/2020-DM-l(A) दिनांक 17.05.2020 के तहत, अपील करता है की पूर्व ग्रसित बीमारी (जैसे उच्च रक्तचाप, मधुमेह, हृदय रोग, कर्करोग, कम प्रतिरक्षा) वाले व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे एवं 65 वर्ष से ऊपर के बुजुर्ग अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए, जब तक अत्यंत आवश्यक ना हो रेल यात्रा करने से बचें।

ये भी पढ़ेंः सीएम केजरीवाल ने जारी किया ख़ास वीडियो, बोले- अगर कोरोना हो जाए तो…

हेल्पलाइन नंबर पर दें सूचना

देश के कई नागरिक इस समय रेल यात्रा करना चाहते हैं एवं उनको निर्बाध रूप से रेल सेवा मिलती रहे, इस हेतु भारतीय रेल का परिवार चौबीसों घंटे, सातों दिन कार्य कर रहा है। पर हमारे यात्रियों की सुरक्षा हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है और इसके लिए सभी देशवासियों का सहयोग अपेक्षित है। किसी भी कठिनाई या आकस्मिकता पड़ने पर कृपया अपने रेल परिवार से संपर्क करने में हिचकिचाएं नहीं। भारतीय रेल आपकी सेवा में हमेशा की तरह तत्पर हैं I (हेल्पलाइन नंबर – 139 & 138)

31 मई से पार्सल सेवा फिर से शुरु होगी

31 मई से पार्सल बुकिंग प्रारंभ कर दी जाएगी। संचालित होने वाली सभी स्पेशल रेलगाड़ियों में यह सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। अब सभी लोग पार्सल की बुकिंग संचालित हो रही एवं होने वाली ट्रेनों में कराकर अपने गंतव्य तक आसानी भेज सकेंगे। ज्ञात रहे कोविड – 19 कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु लाक डाउन अवधि में पार्सल सेवा को भी बंद किया गया था। उसके उपरान्त आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हेतु पार्सल स्पेशल गाड़ियों भी चलाई गई।

रिपोर्टर : बी.के. कुशवाहा झाँसी

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।