×

गलत बिलिंग पर भड़के ऊर्जा मंत्री, इनके खिलाफ नोटिस जारी, एजेंसियों पर FIR

ऊर्जा मंत्री ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मध्यांचल व पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के जोनल अभियंताओं के साथ समीक्षा बैठक की।

Newstrack
Published on: 29 Sep 2020 3:49 AM GMT
गलत बिलिंग पर भड़के ऊर्जा मंत्री, इनके खिलाफ नोटिस जारी, एजेंसियों पर FIR
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने गलत बिलिंग कर रही एजेंसियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने और जवाबदेही तय करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही दीपावली से पहले सभी ट्रांसफार्मरों की लोड बैलेसिंग का काम पूरा करने को कहा है। लापरवाही पर 12 मुख्य अभियंताओं के साथ ही मध्यांचल व पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि. के निदेशक वाणिज्यों को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के अंदर जवाब तलब किया है।

गलत बिलिंग करने वाले के खिलाफ हो कठोर कार्रवाई- श्रीकांत शर्मा

ऊर्जा मंत्री ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मध्यांचल व पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के जोनल अभियंताओं के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा कि कई जिलों में गलत बिलिंग की समस्या का समाधान नहीं हो पाने की शिकायतें मिल रही हैं। यह लापरवाही क्षम्य नहीं है।

ये भी पढ़ें- कांग्रेस राज्य सरकारों की तैयारी, उठाने जा रहे ये कदम, मोदी सरकार की बढ़ी मुसीबत

Shrikant Sharma ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने की बैठक (फाइल फोटो)

निर्देश दिए कि जहां भी शिकायतें आ रही हैं वहां प्रबंध निदेशक विशेष टीम भेजकर जांच कराएं। गलत बिलिंग करने वाली एजेंसी के खिलाफ कठोर कार्रवाई के साथ ही एफआईआर भी दर्ज कराएं। गलत बिलिंग पर संबंधित अधिकारी की जवाबदेही भी तय करें।

ऊर्जा मंत्री ने लापरवाही करने पर मुख्य अभियंताओं को भेजा नोटिस

Shrikant Sharma ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने की बैठक (फाइल फोटो)

बैठक में ऊर्जा मंत्री ने विभागीय कामों में लापरवाही पर अयोध्या, बरेली, गोंडा, लेसा सिस, लेसा ट्रांस, लखनऊ जोन, मेरठ, मुरादाबाद, बुलंदशहर, गाजियाबाद, नोएडा और सहारनपुर के मुख्य अभियंताओं और मध्यांचल व पश्चिमांचल के निदेशक वाणिज्य को कारण बताओ नोटिस जारी किया। उन्होंने 30 दिन के अंदर मध्यांचल के 1232 व पश्चिमांचल के चिह्नित 1010 अधिक विद्युत हानियों वाले उपकेंद्रों को 15 फीसदी से नीचे लाने को कहा है।

ये भी पढ़ें- अपात्रों को मिल रहा PM आवास योजना का लाभ, प्रशासन बेच रहा योजना

ट्रांसफार्मरों की लोड बैलेंसिंग न करने और उनके जलने के कारणों की सही जानकारी नहीं दे पाने व लक्ष्यपूर्ति में लापरवाही पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि लापरवाही से ईमानदार उपभोक्ता को नुकसान उठाना पड़ रहा है। दीपावली से पहले सभी वितरण ट्रांसफार्मरों की लोड बैलेंसिंग कराने के निर्देश दिए ताकि निर्बाध विद्युत आपूर्ति की जा सके।

Newstrack

Newstrack

Next Story