CM योगी को जान से मारने की धमकी देने वाला गिरफ्तार, पुलिस को मिला अहम सुराग

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी देने वाले को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में आरोपी ने सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने की बात स्वीकार कर ली है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी देने वाले को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में आरोपी ने सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने की बात स्वीकार कर ली है। इसके बाद मुंबई की कालाचौकी पुलिस ने आरोपी को यूपी एटीएफ को सौंप दिया है।

गौरतलब है कि गुरुवार को उत्तर प्रदेश पुलिस के 112 पर व्हाट्सएप मैसेज भेजकर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी थी। जिस नंबर से धमकी दी गई थी उस नंबर के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गोमती नगर थाने में धारा 505 (1) बी, 506 (2), और 507 के तहत केसदर्ज किया था।

यह भी पढ़ें…विधायक ने की प्रवासी मजदूरों संग गालीगलौज: कहा- ‘बाप से रोजगार क्यों नहीं मांगते’

इसके बाद एसटीएफ यूपी की टीम मुंबई रवाना हुई। शनिवार देर रात मुंबई पुलिस ने बताया कि सूचना और मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस चूनाभट्टी की म्हाडा कॉलोनी पहुंची और आरोपी को पकड़ लिया। अब यूपी एसटीएफ ने आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर लखनऊ के लिए रवाना हो गई है।

आरोपित की तलाश में एसटीएफ की एक टीम ने महाराष्ट्र में डेरा डाल रखा था। धमकी भरा संदेश यूपी 112 के हेल्पडेस्क पर जिस व्हाट्सएप नंबर से आया था, वह (8828453350) महाराष्ट्र का है।

यह भी पढ़ें…मुठभेड़ में इनामी गौ तस्कर गिरफ्तार, चौकी इंचार्ज समेत 2 सिपाही घायल

मुख्यमंत्री की सुरक्षा में विशेष सावधानियां बरती जा रही हैं। इस मामले में गोमतीनगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 505(1)/(b),506 और 507 के तहत इंस्पेक्टर धीरज शुक्ला की तहरीर पर एफआइआर दर्ज की गई है। धमकी देने वाले की तलाश में पुलिस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच, सर्विलांस समेत कई टीमें लगाई गईं थीं।

यह भी पढ़ें…गुजरात ATS को मिली बड़ी कामयाबी, दाऊद इब्राहिम पर आई ये खबर

यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात को एक वॉट्सएप मैसेज आया। यह मैसेज डायल 112 की सोशल मीडिया डेस्क के वाट्सएप नंबर 7570000100 पर भेजा गया था। मैसेज में लिखा है कि ‘सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं। वह (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है।’ इस मैसेज के आने के बाद तुरंत इसकी जानकारी अधिकारियों कोदी गई।