Top

जनता के बीच पहुंची मेनका, बोलीं- हम ये नहीं पूछते आपने हमको वोट दिया या नहीं

योगी सरकार के ऊर्जा राज्य मंत्री रमा शंकर पटेल ने यहां कहा कि किसी गांव में बिजली कम है तो वहां कोई जिम्मेदार है तो पूर्ववर्ती सरकार के लोग जिम्मेदार हैं।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 27 Dec 2019 3:04 PM GMT

जनता के बीच पहुंची मेनका, बोलीं- हम ये नहीं पूछते आपने हमको वोट दिया या नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुलतानपुर: योगी सरकार के ऊर्जा राज्य मंत्री रमा शंकर पटेल ने यहां कहा कि किसी गांव में बिजली कम है तो वहां कोई जिम्मेदार है तो पूर्ववर्ती सरकार के लोग जिम्मेदार हैं।

राज्यमंत्री के साथ मंच साझा करते हुए सांसद मेनका गांधी ने कहा कि हम ये नहीं पूछते आपने हमको वोट दिया या नहीं दिया हम केवल ये पूछते हैं आपकी तकलीफ क्या है? लेकिन तकलीफ लिखित में।

ऊर्जा राज्यमंत्री और सांसद मेनका गांधी यहां कुड़वार ब्लाक के सरकौड़ा गांव में लिंक रोड व 33/11केवी विद्युत उपकेन्द्र के शिलान्यास के मौके पर पहुंची थी।

पूर्वांचल के गांवों का 10 हजार करोड़ बिजली का बिल बकाया

ऊर्जा राज्य मंत्री रमा शंकर पटेल ने लोगों को एड्रेस करते हुए आगे कहा कि देश की और प्रदेश की जिस सरकार पर आप लोगों ने विश्वास किया वो उस पर खरा उतरने का काम कर रही है।

मंत्री ने कहा बड़ी-बड़ी समस्या जो 70 सालों से दूर नही हुई उसे देश-प्रदेश की सरकार ने, चाहे 370 की बात हो चाहे 35ए की बात हो। राममंदिर निर्माण की बात हो या अभी आप देख रहे हैं एक कितना बड़ा बवाल मचा है। उस पर बोलने के लिए उनके पास शब्द नही है, कोई जानकारी नही है लेकिन इस देश का माहौल खराब करने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि पूर्ववर्ती सरकार से लोगों का विश्वास उठ गया था, किसानों का विश्वास उठ गया था। हम पूर्वांचल की समीक्षा बैठक कर रहे थे, हमारे एमडी ने कहा के पूर्वांचल के गांवों का 10 हजार करोड़ बिजली का बिल बाक़ी है।

कहा जानते हैं क्यों बाक़ी है? जब गांव में बिजली नही मिलती थी तो गांव में किसान मजदूर बिल देना बंद कर दिए थे। उस वक़्त लाइट सोने के बाद आती थी जागने से पहले कट जाती थी। योगी जी की सरकार गांवों को 18 घंटे, तहसील को 20 घंटे और शहरी क्षेत्र को 23-24 घंटे बिजली दे रही है।

उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार पर तंज कसते हुए कहा 40 साल पहले की सरकारों ने एक तार नही बदला, बदले भी गए तो कागज पर बदले गए।

ये भी पढ़ें...योगी सरकार ने यूपी में दंगा करने वाले 80 दंगाइयों की सम्पत्ति की सीज, नोटिस जारी

नहीं मिलेगा भद्र भाईयों को किसी चीज का ठेका

वही मेनका संजय गांधी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि एक वक़्त था इसौली में मारे डर के लोग निकलते नहीं थे। पूरे डर-डर के निकलते थे। यहां सरकारी बसें नही चलती थीं, आतंक मचता था। आज आप लोगों को माहौल बदला हुआ मिला है के नही मिला?

लोगों ने हां में जवाब दिया। चुनाव में अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बीएसपी प्रत्याशी चंद्रभद्र सिंह सोनू और उनके अनुज पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा के रेलवे का ठेका ये दो भाई लेते थे लेकिन अब रेलवे का एक ठेका भी इनको नही मिलेगा। कोई ठेका नहीं मिलेगा न सड़कों का न किसी ऐसी चीज का जिससे वो बुरा कर सकें।

ये भी पढ़ें...यूपी में कानून व्यवस्था को लेकर नेता आराधना मिश्रा ने योगी सरकार को घेरा

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story