×

मणि मंजरी केस: हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा, ड्राइवर करता था ऐसा काम

मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय पर वाहन चालक चंदन वर्मा की जमकर दबंगई चलती थी ।

Newstrack
Published on: 23 July 2020 12:58 PM GMT
मणि मंजरी केस: हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा, ड्राइवर करता था ऐसा काम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बलिया: मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय पर वाहन चालक चंदन वर्मा की जमकर दबंगई चलती थी । वाहन चालक मणि मंजरी को प्रताड़ित भी करता था । वाहन चालक ने मणि मंजरी से दो लाख रुपये उधार भी लिये थे ।

ये भी पढ़ें:सीएम त्रिवेन्द्र सिंह ने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के अंदर किया ये काम

मणि मंजरी मामले में हो रही पुलिसिया जांच में सामने आ रहे तथ्य फिल्म की कहानी की माफिक दिलचस्प होते जा रहे हैं ।

मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय ने सुसाइड करने के पहले आखिरी बातचीत बैरिया में कार्यरत नायब तहसीलदार रजत सिंह से किया था । रजत सिंह नायब तहसीलदार बनने के पूर्व जिले के एक नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी रहे । इसी दरम्यान दोनों में सम्बन्ध प्रगाढ़ होते चले गए । बलिया शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने इस मामले में नायब तहसीलदार रजत सिंह से पूछताछ किया । सूत्रों के अनुसार रजत सिंह ने 14 पृष्ठ का बयान पुलिस को दिया है । ऐसा समझा जाता है कि रजत ने पुलिस को सुसाइड करने के पूर्व मणि मंजरी से आखिरी बार हुई बातचीत का ब्यौरा भी दिया है । सूत्रों के अनुसार रजत ने ही आखिरी काल मणि मंजरी को किया था । रजत ने मणि मंजरी को बताया कि उनके पास चंदन वर्मा आया हुआ है तथा उसका कहना है कि वह उधार लिया गया दो लाख रुपये मणि मंजरी को लौटा चुका है , फिर भी मणि मंजरी उससे दो लाख रुपये मांग रही हैं ।

मणि मंजरी ने चंदन के बयान को गलत करार दिया । इस बातचीत के दौरान ही मणि मंजरी ने रजत को उनके व्हाट्सएप पर एक ऑडियो क्लिप भेजा । रिकार्डिंग के इस क्लिप में चंदन दो लाख रुपये लेने व 10 दिन में वापस करने की बात कह रहा है । ऑडियो क्लिप में चंदन को लेकर चौकाने वाला खुलासा भी हुआ है कि जब चंदन को शक होता है कि मणि मंजरी इस बातचीत की रिकॉर्डिंग कर रही है तो वह मोबाइल छिनने का प्रयास करता है । पुलिसिया छानबीन में यह भी सनसनीखेज खुलासा हुआ है कि वाहन चालक चंदन वर्मा मणि मंजरी के साथ न सिर्फ जबर्दस्ती करता था बल्कि वह उनको प्रताड़ित भी करता था । सूत्रों के अनुसार पुलिस को एक ऐसी ऑडियो क्लिप मिली है , जिसमें मणि मंजरी फोन पर अपने एक परिजन को वाहन चालक के झापड़ मारने की बात कह रही है । दो लाख रुपये का लेनदेन तो सुसाइड करने की वजह नही बनी , पुलिस इसकी छानबीन में जुटी है ।

इस बीच इस मामले में आरोपी मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता की तलाश करना पुलिस के लिये सिरदर्द बन गया है । प्रदेश शासन व उच्च अधिकारियों की तरफ से इस मामले को लेकर जानकारी ली जा रही है । इसके साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर फटकार लगाई जा रही है ।

ये भी पढ़ें:कांग्रेस को फिर लगा झटका: विधायक ने छोड़ी विधानसभा की सदस्‍यता, दे दिया इस्‍तीफा

आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस ने लखनऊ व इलाहाबाद में खाक छाना , लेकिन कोई भी आरोपी पुलिस के हत्थे नही चढ़ा । पुलिस को अब ऐसी सूचना मिली है कि आरोपी उत्तराखंड में छिपे हुए हैं । आरोपी नगर पंचायत अध्यक्ष के परिजन ऋषिकेश में रहते हैं । ऐसे में आरोपियों के ऋषिकेश में शरण लेने की संभावना जताई गई है । उधर वाहन चालक चंदन वर्मा के अतिरिक्त किसी अन्य आरोपी की गिरफ्तारी न होने से मणि मंजरी के परिजनों की नाराजगी भी बढ़ गई है । परिजन अब सी बी आई जांच के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करेंगे । प्रदेश शासन के एक सचिव के जरिये मुख्यमंत्री से मुलाकात की कवायद की जा रही है । कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू आज मणि मंजरी के गांव कनुआन पहुँचे । उन्होंने परिजनों से मुलाकात कर सहयोग का भरोसा दिलाया ।

अनूप कुमार हेमकर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story