×

मेरठ: नोडल अधिकारी ने दिए 72 घंटे में किसानों को भुगतान करने के आदेश

आज यहां बचत भवन में धान क्रय की समीक्षा करते हुए शासन से नामित नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है तथा किसानों की खुशहाली में ही देश की खुशहाली है । उन्होंने कहा कि किसान द्वारा उत्पादित धान को क्रय किया जाए तथा क्रय के उपरांत 72 घंटे में उनको भुगतान भी कराया जाए।

Monika
Updated on: 27 Dec 2020 4:20 PM GMT
मेरठ: नोडल अधिकारी ने दिए 72 घंटे में किसानों को भुगतान करने के आदेश
X
नोडल अधिकारी ने दिए 72 घंटे में किसानों को भुगतान करने के निर्देश
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मेरठ: आज यहां बचत भवन में धान क्रय की समीक्षा करते हुए शासन से नामित नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है तथा किसानों की खुशहाली में ही देश की खुशहाली है । उन्होंने कहा कि किसान द्वारा उत्पादित धान को क्रय किया जाए तथा क्रय के उपरांत 72 घंटे में उनको भुगतान भी कराया जाए। उन्होंने कहा कि कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

पीएफएएस के माध्यम से भुगतान किया जाए

बचत भवन में आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुए पी गुरुप्रसाद ने कहा कि धान क्रय के उपरांत किसानो को पी एफ एम एस के माध्यम से भुगतान किया जाए। उन्होंने कहा कि गत वर्ष के सापेक्ष सरकार ने धान क्रय के दामों में वृद्धि की है जिसका सीधा फायदा किसानों को होगा|

जिलाधिकारी के बालाजी ने बताया कि जनपद में धान क्रय का लक्ष्य 50 मेट्रिक टन है जिसके सापेक्ष अभी तक 738.24 मेट्रिक टन धान क्रय किया जा चुका है । उन्होंने बताया कि साधारण प्रजाति के धान के लिए 1868 रुपए व ग्रेड ए के धान के लिए 1888 रुपए प्रति कुंटल धान क्रय का मूल्य निर्धारित है।

मेरठ

ये भी पढ़ें…राहुल गांधी का पीएम मोदी से सवाल: भारत में टीकाकरण कब, शेयर किया ये ग्राफ

नोडल अधिकारी करेंगे धान क्रय केंद्र का निरीक्षण

उन्होंने बताया कि जनपद में कुल 13 धान क्रय केंद्र हैं जिसमें से खाद एवं रसद विभाग विपणन शाखा के 12 व भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) का एक क्रय केंद्र हैं। उन्होंने बताया कि धान क्रय केंद्रों पर इलेक्ट्रॉनिक कांटे के माध्यम से किसानों के धानों को तोलने की व्यवस्था तथा प्रत्येक धान क्रय केंद्र पर कोविड-19 के दृष्टिगत सैनिटाइजर, साबुन आदि की व्यवस्था साथ ही पानी व शेड की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए गए हैं । उन्होंने बताया कि नोडल अधिकारी कल मवाना तहसील के किसी धान क्रय केंद्र का निरीक्षण करेंगे ।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन मदन सिंह गबर्याल, नगर मजिस्ट्रेट एस के सिंह, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी सत्येंद्र कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

सुशील कुमार ,मेरठ

ये भी पढ़ें: इटावा: किसानों का नहीं खरीदा जा रहा धान, कांग्रेस नेता ने लगाया ये बड़ा आरोप

Monika

Monika

Next Story