बदमाशों का तांडव: दर्जनों दुकानों में तोड़फोड़, कई लोगों को किया घायल

मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के करपिया गाँव में बुधवार को हड़कंप मच गया था। लोग जिधर देखो उधर भाग रहे थे। दो दर्जनों से अधिक नकाबपोश बदमाशो ने दर्जनों दुकानों में की तोड़फोड़ और जमकर तांडव मचा रखा था।

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में बुधवार को का़नून व्यवस्था उस समय पूरी तरह तार-तार नजर आई जब दिनदहाड़े दो दर्जन बदमाशों ने दर्जनों दुकानों पर तांडव मचाया। बदमाशों ने पहचान छिपाने के लिए मुंह को बांध रखा था, और बाइक से आकर घटना को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए। सूचना के बाद एसपी ने मौके पर पहुंचकर स्थित का जायजा लिया।

मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के करपिया गाँव में बुधवार को हड़कंप मच गया था। लोग जिधर देखो उधर भाग रहे थे। दो दर्जनों से अधिक नकाबपोश बदमाशो ने दर्जनों दुकानों में की तोड़फोड़ और जमकर तांडव मचा रखा था। ग्रामीण एखलाक अहमद ने बताया कि 25-30 बदमाश जो हाथों में डंडा लिया था और हथियारों से लैस थे आए और यहां पहुंचे और दुकानदारों को मारना-पीटना शुरू कर दिया।

बदमाशों ने दुकानों में तोड़फोड़ की और चार-पांच लोगों को भी मारा 

सब्जी आदि की दुकानों को क्षतिग्रस्त कर दिया। बदमाशों ने आधा दर्जन से अधिक बाइकों को भी क्षतिग्रस्त किया है और जिस रूट से आए थे उसी से वापस चले गए। मिठाई की दुकान चलाने वाले अनिल कुमार बताते हैं कि बदमाश आए दुकानों में तोड़फोड़ की और चार-पांच लोगों को भी मारा जिन्हें चोटें आई हैं।

ये भी पढ़ें—महिला सांसद को भेजता था अश्लील मैसेज और वीडियो, अब हुआ ये हाल

सूचना पर पहुंची एसपी डा. ख्याति गर्ग पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंची। उन्होंने मौके पर जांच किया, मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया कि संप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का मामला तो नही लग रहा है। उन्होनें नागरिक संशोधन एक्ट के समर्थन और विरोध में भी ये घटना नही दिखाई दे रही।

उन्होंने कहा कि सरफिरे लड़कों द्वारा ये घटना कारित की ऐसा प्रतीत हो रहा है।एसपी का कहना है की ये भी लगता है के रंगदारी वसूलने और वर्चस्व क़ायम करने के लिए ऐसा किया है ये भी लग रहा है। दो-तीन नाम सामने आए हैं, गांव वालों से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

ये भी पढ़ें—वायु प्रदूषण का कहर, बच्चा पैदा हो सकता है शुगर, रक्तचाप व सांस का बीमार