मोदी करेंगे संबोधित: कल वाराणसी के लोगों से करेंगे बात, इस पर होगी चर्चा

वाराणसी के बारे में यह प्रसिद्ध है कि ‘काशी में कोई भूखा नहीं सोता।’ बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी के वासियों ने लाॅकडाउन के दौरान जरूरतमंदों को समय से भोजन उपलब्ध कराने में जिला प्रशासन को भरपूर सहयोग प्रदान किया।

लखनऊ:प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 9 जुलाई को पूर्वान्ह् 11 बजे अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के द्वारा संवाद स्थापित करते हुए लाॅकडाउन के दौरान इनके सामाजिक कार्याें से जुड़े अनुभव की जानकारी प्राप्त करेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गत 19 मार्च को अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों से वीडियो कांफे्रसिंग कर विकास कार्यो की समीक्षा की थी।

काशी में कोई भूखा नहीं सोता

वाराणसी के बारे में यह प्रसिद्ध है कि ‘काशी में कोई भूखा नहीं सोता।’ बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी के वासियों ने लाॅकडाउन के दौरान जरूरतमंदों को समय से भोजन उपलब्ध कराने में जिला प्रशासन को भरपूर सहयोग प्रदान किया। अलग-अलग क्षेत्र की 100 से अधिक संस्थाओं ने अपने स्तर से तथा वाराणसी जिला प्रशासन के फूड सेल के माध्यम से लाॅकडाउन की अवधि में लगभग 20 लाख फूड पैकेट्स तथा दो लाख राशन किट्स का वितरण किया। भोजन वितरण के अतिरिक्त, इन संस्थाओं ने सेनिटाइजर तथा मास्क आदि का वितरण जैसे अन्य सामाजिक कार्य भी किए।

कार्यक्रम को प्रधानमंत्री मोदी सम्बोधित करेंगे

जिला प्रशासन द्वारा इन सभी को कोरोना वाॅरियर्स के रूप में सम्मानित किया गया। सहयोग और मानव सेवा का अद्भुत उदाहरण प्रस्तुत करने वाली संस्थाओं के प्रतिनिधि अपने अनुभव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ साझा करेंगे। तत्पश्चात कार्यक्रम को प्रधानमंत्री मोदी सम्बोधित करेंगे।

कोरोना के बाद अकेले अप्रैल में 12 करोड़ रोजगार का नुकसान: कांग्रेस

इन लोगों ने लिया था हिस्सा

गत 19 जून को पहली बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वाराणसी के विधायकों, अधिकारियों और प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने भी हिस्सा लिया था। इसमें लगभग ढाई घंटे की बातचीत में पीएम काशी के विकास कार्यों की प्रगति को लेकर काफी संतुष्ट नजर आए थें। तब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से विकास कार्यों के संबंध में सुझाव मांगे और खुद भी इस संबंध में सुझाव लिए थें।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री, लखनऊ

कोरोना के बाद अकेले अप्रैल में 12 करोड़ रोजगार का नुकसान: कांग्रेस

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।