×

Groundbreaking ceremony 2: एक साथ होगें अंबानी-अडानी से लेकर हेमा-अमित शाह तक

योगी सरकार की इस कार्यक्रम की गंभीरता का अंदाजा इसी बात पर लगाया जा सकता है कि पूरी सरकार इस कार्यक्रम लगी हुई है। इसलिए कार्यक्रम की रूपरेखा इस तरह से तैयार की गयी है। 

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 26 July 2019 3:41 AM GMT

Groundbreaking ceremony 2: एक साथ होगें अंबानी-अडानी से लेकर हेमा-अमित शाह तक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

श्रीधर अग्निहोत्री श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: योगी सरकार के ढाई साल के कार्यकाल में निवेशको को आकर्षित करने के लिए 28 जुलाई को दूसरा ब्रेकिंग सेरेमनी होने जा रहा है। इसमें कई प्रोजेक्टों का शिलान्यास होना है लेकिन पहले समारोह में जिन 81 प्रोजेक्ट का शिलान्यास हुआ था। उनमें से 29 हजार 656 करोड़ के 30 प्रोजेक्ट ही शुरू हो सके हैं।

यह भी पढ़ें: कारगिल विजय दिवस आज, पाकिस्तान को 20 साल पहले भारतीय सेना ने चटाई थी धूल

फरवरी 2018 में हुई इंवेस्टर्स समिट में 4 लाख 68 हजार करोड़ रुपये के एमओयू हुए थे। इसके बाद बीते साल जुलाई में हुए पहले शिलान्यास समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 61 हजार 846 करोड़ के 81 प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया था। राज्य सरकार का दावा है कि इनमें से 79 प्रोजेक्ट स्थापित हो चुके हैं। यह एक ऐसा कार्यक्रम है जिसमें नेता उद्योगपति फिल्म स्टार से लेकर नौकरशाह तक रहेंगे।

यह भी पढ़ें: कर्नाटक: विधानसभाध्यक्ष ने कांग्रेस के दो और एक निर्दलीय विधायक को ठहराया अयोग्य

विभागीय सूत्रों ने बताया कि 4 हजार करोड़ के 3 प्रोजेक्ट पर अभी काम ही नहीं शुरू हो पाया है। पहले समारोह के प्रोजेक्टों में 53 फीसदी पश्चिमी यूपी के जिलों में स्थापित हुए हैं। मध्यांचल में 12 और पूर्वांचल में मात्र 4 प्रतिशत प्रोजेक्ट हैं। प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में 31 फीसदी प्रोजेक्ट स्थापित हुए हैं। ग्राउन्ड बे्रकिंग 2 में प्रमुख रूप से आधा दर्जने उद्योगों पर विशेष चर्चा होगी।

यह भी पढ़ें: मॉब लिचिंग पर गूंज उठा सदन, सत्ता पक्ष -विपक्ष में चले आरोप- प्रत्यारोप के तीर

प्रदेश के औद्योगिक विकास से संबंधित अपने-अपने विभागों की रूप रेखा तय होगें ताकि गु्रप डिस्कशन में किसी भी प्रकार दिक्कत न हो। ग्रुप डिस्कशन के तहत खाद्य प्रसंस्करण, डिफेंस एण्ड एयरो स्पेस, इलेक्ट्रानिक मैन्युफैक्चरिंग, टूरिज्म एण्ड फिल्म, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी तथा पावर एण्ड रिन्यूएबल एनर्जी विषयों पर चर्चा के लिए छह सत्रों का निर्धारण किया गया है।

योगी सरकार की इस कार्यक्रम की गंभीरता का अंदाजा इसी बात पर लगाया जा सकता है कि पूरी सरकार इस कार्यक्रम लगी हुई है। इसलिए कार्यक्रम की रूपरेखा इस तरह से तैयार की गयी है।

यह भी पढ़ें: प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण होंगे यूपीआरएनएन के अध्यक्ष

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा इलेक्ट्रानिक मैन्युफैक्चरिंग, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य खाद्य एवं प्रसंस्करण सत्र, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना डिफेंस एण्ड एयरो स्पेस, परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह इलेक्ट्रिक मोबिलिटी तथा उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा द्वारा पावर एण्ड रिन्यूएबल एनर्जी के सत्रों की अध्यक्षता की जायेगी।

कौन कौन कम्पनियां होगी शामिल

वीवो, टाटा पावर, हायर, सैमसंग, लावा, मेदांता, पेप्सिको, अडानी गैस, आईटीसी, जेके सीमेंट। आदित्य बिरला प्रयागराज पावर, हल्दीराम, भारत गैस, भारत पेट्रोलियम, बीकानेरवाला, हिंदुस्तान यूनीलीवर और मेट्रो कैश एंड कैरी कम्पनियों के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

यह भी पढ़ें: अनिवार्य शिक्षा कानून: शिक्षा से इन्कार करने पर शीर्ष अधिकारियों से हलफनामा तलब

सेरेमनी में रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी, बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला, अडाणी ग्रुप के मुखिया गौतम अडाणी, महिंद्रा ग्रुप के आनन्द महिंद्रा, आईटीसी ग्रुप के चेयरमैन संजीव पुरी, एचसीएल के प्रमुख शिव नाडर, टाटा संस के चेयरमैन एन. चन्द्रशेखरन, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक के साउथ वेस्ट एशिया के सीईओ एचसी होंग, टॉरंट ग्रुप के सुधीर मेहता, मेदांता के डॉ. नरेश त्रेहन सहित कई उद्योगपति हिस्सा लेंगे।

फिल्म स्टार भी आएगें

टूरिज्म एण्ड फिल्म सत्र में सांसद एवं अभिनेत्री हेमा मालिनी, सांसद रवि किशन, अभिनेता दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ, फिल्म निर्माता बोनी कपूर, निर्माता एवं निर्देशक सुभाष घई एवं निशीथ चन्द्रा भाग लेंगे। इस मौके पर पूर्व में आयोजित ग्राउण्ड बे्रेक्रिंग सेरेमनी के दौरान हुए शिलान्यास और वर्तमान में इनकी प्रगति पर आधारित वीडियो का प्रदर्शन किया जायेगा।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story