क्षेत्रीयता के आधार पर नहीं होना चाहिए किसी के साथ भेदभाव: मुलायम

समाजवादी पार्टी में शामिल होने वाले सभी नेताओं ने पार्टी की जीत के लिए एकजुट संघर्ष करने का एलान किया। इस अवसर पर पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने नौजवानों को आशीर्वाद दिया।

लखनऊ: अगले विधानसभा चुनाव के पहले राजनीतिक दलों में पार्टी छोड़ने और नए दल में शामिल होने का सिलसिला शुरू हो गया है। आज समाजवादी पार्टी की नीतियों में आस्था जताते हुए बहुजन समाज पार्टी, भाजपा, और कांग्रेस के कई प्रमुख नेता अपने हजारों साथियों के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।

समाजवादी पार्टी में शामिल होने वाले सभी नेताओं ने पार्टी की जीत के लिए एकजुट संघर्ष करने का एलान किया। इस अवसर पर पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने नौजवानों को आशीर्वाद दिया। उनके साथ अखिलेश भी थे।

उन्होंने उम्मीद जताई कि इन साथियों के आने से 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनना निश्चित है। मुलायम ने  कहा कि समाजवादी पार्टी नौजवानों की पार्टी है।  आज जो लोग मंच पर बैठे हैं, उनमें कोई 2, कोई 5, कोई 8 और कोई 10 साल और जिएगा। इसके बाद समाजवादी पार्टी पूरी तरह नौजवानों की पार्टी होगी।

मुलायम ने इस दौरान कहा कि किसी में भेद नहीं करना चाहिए, चाहे वह औरत-मर्द हों या गोरे-काले। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीयता के आधार पर भी भेद नहीं करना चाहिए। उन्होंने लोगों से समाजवादी पार्टी की विचारधारा, लोहिया ट्रस्ट में सभी के भाषणों को पढ़ने के लिए कहा क्योंकि उनको जनता के बीच में बोलना होता है।

ये भी पढ़ें…मुलायम सिंह यादव के बर्थडे पर बंटा 81 किलो का लड्डू, देखें तस्वीरें

परिवर्तन की राजनीति करती रही है एसपी

मुलायम ने बताया कि सात क्रांतियां है और उस सात क्रांतियों को पढ़ने के बाद समाजवादी क्रांति बनती है। पूर्व सीएम ने यह भी कहा कि पूरी दुनिया में परिवर्तन की लहर है। समाजवादी पार्टी शुरू से परिवर्तन की राजनीति करती रही है। उन्होंने कहा कि नौजवान ही वोट देते हैं, माहौल बनाते हैं और नौजवानों की बहुत बड़ी जिम्मेदारी भी है।

मुलायम ने कहा कि देश को शक्तिशाली बनाने वाले तीन लोग हैं- किसान, नौजवान,और व्यापारी। उन्होंने कहा कि यह बात उन्होंने लोकसभा में कही तो भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने उन्हें बधाई दी।

ये भी पढ़ें…गेस्ट हाउस कांड: मायावती ने मुलायम के खिलाफ वापस लिया केस, बताई ये वजह

सपा में ये चेहरे हुए शामिल

जिन नेताओं ने आज समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की उनमें हिन्दू युवा वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह तथा बसपा के पूर्व मंत्री डाॅ. रघुनाथ प्रसाद शंखवार पूर्व लोकसभा प्रत्याशी मोहनलालगंज सीएल वर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष बसपा लखनऊ महादीन गौतम, मऊ के राजेन्द्र कुमार पूर्व कैबिनेट मंत्री और नोएडा के भाजपा नेता दीपक विग के साथ बसपा के कई नेता समाजवादी पार्टी में शामिल हुए।

हिन्दू युवा वाहिनी भारत के अध्यक्ष सुनील सिंह ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ समाजवादी पार्टी में वाहिनी के विलय की घोषणा की। उनके साथ विभिन्न जनपदों के 46 नेता, पदाधिकारी भी आज समाजवादी पार्टी के सदस्य बन गए। पार्टी में शामिल नेताओं तथा अन्य संस्थाओं ने मुलायम सिंह यादव एवं अखिलेश यादव को गदा, बुके तथा अन्य स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया।

हिन्दू युवा वाहिनी (भारत) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने हिन्दू युवा वाहिनी का समाजवादी पार्टी में विलय कर दिया है इनके साथ सर्वश्री के.के. सिंह, सुशील शुक्ला, रोहित चैधरी, विजय शुक्ला, सौरभ विश्वकर्मा, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, चन्दन विश्वकर्मा, हिमांशू शेखर, ओम प्रकाश विश्वकर्मा ने सदस्यता ग्रहण की।

इसके अलावा समाजवादी पार्टी में  चाहत मल्होत्रा, आनन्द निषाद, पूर्व प्रत्याशी बसपा कैम्पियरगंज गोरखपुर एवं शिल्पी चैधरी जाटव अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन ने भी सदस्यता ग्रहण की।

ये भी पढ़ें…मुलायम सिंह की महिला रिश्तेदार समेत 4 अधिकारियों पर 50-50 लाख का लगा जुर्माना