×

यहां मुस्लिम महिलाओं ने पुलिस पर जमकर किया पथराव, कई घायल, फ़ोर्स तैनात

दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर सीएए को के समर्थन में वाराणसी के बेनियाबाग पार्क में धरना देने की कोशिश कर रही मुस्लिम महिलाओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 23 Jan 2020 12:53 PM GMT

यहां मुस्लिम महिलाओं ने पुलिस पर जमकर किया पथराव, कई घायल, फ़ोर्स तैनात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी: दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर सीएए को के समर्थन में वाराणसी के बेनियाबाग पार्क में धरना देने की कोशिश कर रही मुस्लिम महिलाओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई।

धरना दे रही महिलाओं को पुलिस ने उठाने का प्रयास किया तो मैदान के इर्दगिर्द खड़े युवाओं ने विरोध किया। इस दौरान महिलाओं की तरफ से पुलिस टीम पर पथराव भी किया गया।

पुलिस ने मैदान को घेरा

सीएए को लेकर प्रदर्शन की खबर मिलते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन फानन में डीएम कौशल राज शर्मा और एसएसपी प्रभाकर चौधरी 10 थानों की फोर्स, पीएसी और दंगा नियंत्रक उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे।

पुलिस ने प्रदर्शनकारी महिलाओं को हटाने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी। इसके बाद पुलिस ने महिलाओं को बल पूर्वक हटाने की कवायद शुरू की। धरना दे रही महिलाओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इस दौरान प्रादर्शनकारी महिलाओं और पुलिस के बीच हल्की झड़प भी हुई।

ये भी पढ़ें...CAA के खिलाफ JDU नेता के सवाल पर बोले नीतीश कुमार- छोड़ दो पार्टी

प्रदर्शनकारियों पर लग सकता है रासुका

डीएम के मुताबिक वाराणसी सहित पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू है। किसी तरह के प्रदर्शन और धरने की इजाजत नहीं नहीं है। बावजूद इसके मुस्लिम महिलाओं ने प्रादर्शन करने की कोशिश की। प्रदर्शन के पीछे आखिर कौन लोग हैं। इसकी जांच कराई जाएगी, और आरोप सिद्ध हुआ तो रासुका के तहत भी कार्रवाई हो सकती है।

आजमगढ में भी प्रदर्शन

आजमगढ के मुबारकपुर कस्बे के मोहल्ला हैदराबाद के कपूरा शाह दीवान की बाग़ में महिलाओं ने बुधवार को सीएए, एनआरसी और एनपीआर वापस लेने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

संविधान बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले यह प्रदर्शन किया गया, जिसमें आसपास के ग्रामीण इलाकों से बडी संख्या में लोग शामिल हुए। रायबरेली में टाउनहाल में बडी संख्या में महिलाएं और बच्चे बुधवार को सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के लिए एकत्र हुए।

उन्होंने प्रदर्शन के दौरान नारेबाजी भी की। वरिष्ठ अधिकारियों के आग्रह के बावजूद महिलाओं ने प्रदर्शन जारी रखा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रशासन पूरी तरह एलर्ट है और स्थिति पर निगाह रखे हुए है। लखनउ में महिलाएं और बच्चे पिछले शुक्रवार से प्रदर्शन कर रहे हैं। हाथ में तिरंगा और प्लेकार्ड लिए महिलाओं ने 'इंकलाब जिन्दाबाद' और 'सीएए-एनआरसी वापस लो' के नारे लगाए।

ये भी पढ़ें...CAA पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, भारतीय मुसलमानों के लिए कही ये बड़ी बात

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story