CAA पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, भारतीय मुसलमानों के लिए कही ये बड़ी बात

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ देश भर में बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

CAA पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, भारतीय मुसलमानों के लिए कही ये बड़ी बात

CAA पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, भारतीय मुसलमानों के लिए कही ये बड़ी बात

मेरठ: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ देश भर में बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। वहीं इसी बीच केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कोई भी किसी भारतीय मुसलमानों को छू तक नहीं पाएगा। साथ ही उन्होंने इन अफवाहों को भी नकारा कि अगर देश में NRC और NPR लागू हो जाता है तो समुदाय को निशाना बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि ‘हम सरकार नहीं, बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करते हैं। राजनाथ सिंब ने ये बातें मेरठ के माधवकुंज मैदान में सीएए के समर्थन में आयोजित जन जागरण रैली को संबोधित करते हुए बोलीं।

यह भी पढ़ें: मणिपुर में ब्लास्ट: धमाके से हिल गया शहर, सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेरा

हम मजहब की राजनीति कर स्वार्थ नहीं साधते- राजनाथ सिंह

बीजेपी की ओर से आयोजित रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि, (पिछली सरकार के दौरान) हमने नागरिकता संशोधन कानून बनाया था लेकिन उस वक्त यह लागू नहीं हो सका था। लेकिन इस बार हमने इसे कर दिखाया। उन्होंने आगे कहा कि लेकिन अब इसे हिंदू-मुस्लिम के नजरिए से देखा जा रहा है। संदेह चाहे कोई भी कर ले हमारे प्रधानमंत्री धर्म के आधार पर नहीं, इंसानियत के आधार पर सोचते हैं। उन्होंने कहा कि, हम धर्म या मजहब की राजनीति कर स्वार्थ नहीं साधते।

धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा- सिंह

राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि, गांधी जी ने भी कहा था कि धर्म के आधार पर विभाजन नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने (भारत) कहा है कि धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि, अपने पड़ोसी देश ने उनका एक खास धर्म घोषित कर दिया है। उन्होंने अपने को एक धार्मिक राष्ट्र घोषित कर रखा है। हमने ऐसा कोई भी ऐलान नहीं किया है।

यह भी पढ़ें: चलती ट्रेन में महिला ने दिया बच्ची को जन्म,टीटीई व महिला यात्रियों ने किया सहयोग

राजनाथ सिंह ने पूछा, क्या….

रक्षा मंत्री ने सवाल करते हुए कहा कि, क्या नागरिकों का रजिस्टर नहीं होना चाहिए? सरकारी योजना का लाभ उठाने के लिए दस्तावेज (Document) होना चाहिए या नहीं? उन्होंने कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यक जलालत भरी जिंदगी जी रहे हैं और भारत ने अपने धर्म का पालन किया है।

पूरे देश में सीएए के समर्थन में रैली का हो रहा आयोजन

आपको बता दें कि बीजेपी पूरे देश में सीएए के समर्थन में रैली का आयोजन कर रही है। जिसे पार्टी के सभी बड़े-बड़े नेता संबोधित कर रहे हैं। वहीं मेरठ से पहले बीजेपी 18 जनवरी को वाराणसी और 19 जनवरी को गोरखपुर में सीएए के समर्थन में रैली आयोजित कर चुकी है। लखनऊ में हुई रैली के बाद 22 जनवरी को मेरठ और कानपुर सीएए के समर्थन में क्षेत्रीय रैलियां की जा रही हैं। मेरठ की रैली को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संबोधित किया तो वहीं कानपुर की रैली को केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर संबोधित करेंगे। वहीं आज सीएए के समर्थन में 23 जनवरी को आगरा में रैली की जानी है, जिसको बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा संबोधित करेंगे।

यह भी पढ़ें: मुंबई: राज ठाकरे की अध्यक्षता में महाराष्ट्र नव निर्माण सेना का महाअधिवेशन आज