नमामि गंगे कार्यक्रम पर जलशक्ति मंत्री ने ऐसी बात कह सभी को चौंका दिया

जलशक्ति मंत्री ने कहा कि नहरों की सिल्ट की सफाई का कार्य शीघ्र पूरा किया जाय ताकि रबी की बुवाई में कोई व्यवधान न आये और किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिल सके।

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि नहरों का पानी अंतिम खेत तक पहुंचना चाहिए। इसलिए नहरों की सफाई आदि का काम प्राथमिकता के अधार पर सुनिश्चित किया जाय। इन कार्यों में किसी स्तर पर लापरवाही को गंभीरता से लिया जायेगा।

सिंचाई, लघु सिंचाई, भूगर्भ जल एवं नमामि गंगे आदि विभागों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए उन्होंने कहा कि संचालित विभिन्न कार्यक्रमों एवं निर्माण कार्यों को निर्धारित समय में पूरा किया जाए।

जलशक्ति मंत्री ने कहा कि नहरों की सिल्ट की सफाई का कार्य शीघ्र पूरा किया जाय ताकि रबी की बुवाई में कोई व्यवधान न आये और किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिल सके।

ये भी पढ़ें…पीएम मोदी के नमामि गंगे को झटका, जापानी कंसल्टेंट कंपनी ने खींचे हाथ

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जलशक्ति विभाग का इसलिए गठन किया है कि सिंचाई एवं पेयजल से संबंधित विभिन्न योजनाओं को तेजी से लागू करते हुए नल से जल एवं सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके।

डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि मौजूदा सूबे की सरकार जन समस्याओं के तेजी से निवारण के लिए कटिबद्ध है। राज्य सरकार किसानों को लाभकारी खेती के लिए हर तरह के संसाधन मुहैया करा रही है ताकि किसानों की आमदनी बढ़े और ग्रामीण अर्थव्यवस्था सुदृढ़ हो।

उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने-अपने विभागों का दौरा कर योजनाओं को गति दें। इसके पहले उन्होंने नमामि गंगे परियोजना के तहत एसटीपी का निरीक्षण कर प्लाण्ट को पूरी क्षमता से चलाने का कहा।

उन्होंने कहा कि प्लाण्ट से संबंधित अधिकारी सरकार के मंशा के अनुरूप नमामि गंगे कार्यक्रम को लागू करें। इसमें किसी प्रकार की शिकायत को गंभीरता से लिया जायेगा।

ये भी पढ़ें…‘नमामि गंगे’ देश के गले बांध दी लेकिन सरकार को नहीं पता, कितनी साफ हुई गंगा!