नए DM सुहास ने संभाली नोएडा की कमान, पद संभालते ही की ये कड़ी कार्रवाई

गौतमबुद्ध नगर के नए जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने मंगलवार तड़के साढ़े 5 बजे सूरजपुर कलेक्ट्रेट पहुंच कर कार्यभार संभाल लिया। यह भी नोएडा का एक इतिहास बन गया है कि नोएडा में इतने सवेरे किसी अधिकारी ने पद ग्रहण किया हो।

नोएडा: गौतमबुद्ध नगर के नए जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने मंगलवार तड़के साढ़े 5 बजे सूरजपुर कलेक्ट्रेट पहुंच कर कार्यभार संभाल लिया। यह भी नोएडा का एक इतिहास बन गया है कि नोएडा में इतने सवेरे किसी अधिकारी ने पद ग्रहण किया हो।

इतना ही नहीं जिलाधिकारी सुहास ने सुबह 6 बजे एडीएम प्रशासन, एडीएम वित्त, मुख्य विकास अधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार आदि से कमरे में जिले का हाल भी जाना। इसके साथ ही नए जिलाधिकारी ने सुबह सभी आला अधिकारियों को बैठक के लिए बुलाया है।

प्लानिंग के तहत अब नए डीएम जनपद में कोरोना वायरस पर लगाम कसने की तैयारियां शुरू कर दी है। कोरोना संक्रमण फैलने से कैसे रोका जा सकता है, इसको लेकर विस्तृत प्लानिंग की जा रही है। इस बाबत उन्होंने अधिकारियों से चर्चा भी की है।

यह भी पढ़ें…कनिका पर चौंकाने वाला खुलासा, अब 5वीं रिपोर्ट में आया ये…

डीएम सुहास ने शहरवासियों को भरोसा दिया है कि परेशान होने की जरूरत नहीं है। बचाव ही सावधानी है उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि घर पर रहें और सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि एसेंशियल कमोडिटीज को जिला प्रशासन की तरफ से सुनिश्चित किया जाएगा। गौतमबुद्ध नगर के नए जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि जो भी कानून का उल्लंघन करेंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सुहास एल वाई ने जिलाधिकारी का कार्यभार संभालते ही सेक्टर 135 स्थित सीजफायर कंपनी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। इसी कंपनी में आए ऑडिटर की वजह से शहर में कोरोना फैला। कंपनी को सील कर दिय गया है। सीएमओ ने ऑडिटर मिस्टर जॉन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

यह भी पढ़ें…कर्ज लौटाने को तैयार विजय माल्या: लॉकडाउन पर बोला-काम ठप्प हो गया

डीएम ने बताया कि सीजफायर कंपनी पर एफआईआर दर्ज की गई और सील करने के आदेश भी दे दिए गए हैं। यही वह सीजफायर कंपनी है जिस पर समय रहते ध्यान नहीं दिया गया और नोएडा में कोरोना का बड़ा फैलाव हुआ।