मेट्रो के काम के लिए दूसरी बार खोले गए टेंडर, आयीं सिर्फ दो कंपनियां

नोएडा-ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बीच शुरू होने वाली मेट्रो के काम लिए दूसरी बार खोले गए टेंडर में सिर्फ दो कंपनियां आई हैं। ऐसे में तीसरी बार भी टेंडर जारी किए जाने की तैयारी है।

metro

मेट्रो के काम के लिए दूसरी बार खोले गए टेंडर, आयीं सिर्फ दो कंपनियां

नोएडा: नोएडा-ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बीच शुरू होने वाली मेट्रो के काम लिए दूसरी बार खोले गए टेंडर में सिर्फ दो कंपनियां आई हैं। ऐसे में तीसरी बार भी टेंडर जारी किए जाने की तैयारी है। इस लाइन पर मेट्रो के निर्माण के लिए सिविल का काम शुरू होना है। काम शुरू करने के लिए मई महीने में टेंडर जारी किए गए थे। पहले टेंडर में तीन कंपनियां आईं थीं। कागजातों में कमी मिलने पर अक्तूबर में शर्तों में बदलाव कर दोबारा से टेंडर जारी किए गए।

शनों का स्ट्रक्चर मजबूत नहीं

अभी शहर में जो स्टेशन बने हैं वह प्रथम तल पर बने हैं और दूसरे तल पर फ्लेटफॉर्म। इन स्टेशनों का स्ट्रक्चर इतना मजबूत नहीं है कि इसके ऊपर और कोई तल बनाया जा सके। अब एनएमआरसी ने दूसरी बार अक्तूबर में जो टेंडर जारी किए उसके तहत प्रथम, द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ तक तक निर्माण किया जा सकता है हालांकि अक्तूबर में जारी टेंडर के तहत कंपनी को सिर्फ द्वितीय तल ही निर्माण करना होगा। इसके ऊपर के दो तल का निर्माण बीओटी आधार पर कराया जाएगा।

ये भी पढ़ें: CM योगी ने ‘गो-लोक की ओर’ पुस्तक का किया विमोचन, कहीं ये अहम बातें

जो इसका निर्माण करेगा, वहीं इसका संचालन करेगा। वह इन दो तल पर बनने वाले दुकानें, बैक्वेंट हॉल आदि के जरिए कमाई कर सकेगा।
अब खोले गए टेंडर में सिर्फ दो कंपनियां ही आई हैं। ऐसे में अब दोबारा से टेंडर जारी करने को लेकर सोमवार को अधिकारियों के बीच बैठक होगी। इसको देखते हुए मार्च 2021 तक काम शुरू होने की उम्मीद है।

अधिकारियों ने बताया कि यह अभी नोएडा-ग्रेनो के बीच चल रही एक्वा लाइन का एक्सटेंशन रूट है। जिस रूट पर मेट्रो चल रही है, वह करीब 29 किलोमीटर लंबी है। अब नए ग्रेनो वेस्ट के रूट पर भी मेट्रो चलने से इसका दायरा बढ़ जाएगा। इस लाइन के लिए यूपी केबिनेट ने 3 दिसंबर 2019 को मंजूरी दी थी। उम्मीद थी कि इस लाइन का काम फरवरी-मार्च तक शुरू हो जाएगा। लेकिन शुरूआत में कुछ वजह और फिर कोरोना वायरस के कारण आ जाने से काम शुरू नहीं हो सका।

पहले चरण में पांच स्टेशन तक दौड़ेगी मेट्रो

नोएडा-ग्रेनो वेस्ट के बीच चलने वाली मेट्रो की यह लाइन सेक्टर-51 से शुरू होकर नॉलेज पार्क पांच तक जाएगी। लेकिन पहले चरण में सेक्टर-51 से शुरू होकर सेक्टर-2 ग्रेनो वेस्ट तक मेट्रो चलेगी। इसमें पांच स्टेशन होंगे। इनमें सेक्टर-122, 123, सेक्टर-4 ग्रेटर नोएडा वेस्ट, सेक्टर-12 इकोटेक और सेक्ट-2 ग्रेटर नोएडा वेस्ट के स्टेशन हैं।

राइडरशिप बढ़ने की उम्मीद

ग्रेनो वेस्ट तक मेट्रो चलने का असर नोएडा से परी चौक होते हुए ग्रेटर नोएडा जा रही मेट्रो लाइन पर पडेगा। इससे राइडरशिप में बढ़ोत्तरी होगी। अभी इस लाइन की राइडरशिप 24-25 हजार चल रही है हालांकि अभी कोरोना की वजह से 6-7 हजार के आसपास ही राइडरशिप चल रही है। जबकि डीपीआर में एक लाख के आसपास उम्मीद जताई गई थी। एनएमआरसी अधिकारियों का कहना है कि ग्रेनो वेस्ट तक मेट्रो चलने पर शुरूआती महीनों में ही लाखों लोगों के सफर करने की उम्मीद है। इसकी वजह यह है कि ग्रेनो वेस्ट में काफी संख्या में लोग रहने आ चुके हैं। अगले दो साल में खाली पड़े फ्लैट में भी लोग रहने आ जाएंगे। ऐसे में लोग ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों का भी दिल्ली-एनसीआर का सफर आसान हो जाएगा।

रिपोर्ट: दीपांकर जैन 

ये भी पढ़ें: 100 साल की बुजुर्ग के साथ रेप, आरोपी को मिली ऐसी सजा, रोएगा पूरा जीवन

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App