×

शिक्षा विभाग को लेकर अब आई ये बड़ी खबर, हुआ ये खुलासा

यूपी में शिक्षा विभाग में एक के बाद एक फर्जी शिक्षिकों का खुलासा होता जा रहा है अनामिका शुक्ला का प्रकरण सामने आने के बाद हुए खुलासे में शासन के आदेश पर प्रदेश के सभी कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में शिक्षिकों के प्रमाण पत्र सत्यापन में एक और फर्जी शिक्षिका का मामला सामने आया है ।

Roshni Khan
Updated on: 25 Jun 2020 10:48 AM GMT
shiksha vibhaag uttar pradesh
X
shiksha vibhaag uttar pradesh
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कानपुर: यूपी में शिक्षा विभाग में एक के बाद एक फर्जी शिक्षिकों का खुलासा होता जा रहा है अनामिका शुक्ला का प्रकरण सामने आने के बाद हुए खुलासे में शासन के आदेश पर प्रदेश के सभी कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में शिक्षिकों के प्रमाण पत्र सत्यापन में एक और फर्जी शिक्षिका का मामला सामने आया है ।

ये भी पढ़ें:अभी-अभी पीछे हटी चीनी सेना, भारत के कड़े रुख से लेना पड़ा ये फैसला

यूपी के कानपुर देहात में कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय से एक फर्जी शिक्षिका का मामला उजागर हुआ है । ये मामला तब सामने आया जब कस्तूरबा गांधी विद्यालय में पढ़ा रही अनामिका शुक्ला फ़र्ज़ी शिक्षिका के खुलासे के बाद प्रदेश के सभी कस्तूरबा गांधी विद्यालयो में पढ़ाने वाले शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच चल रही थी । कानपुर देहात में कस्तूरबा गांधी विद्यालय में पढ़ाने वाली फुलटाइम शिक्षिका दीप्ति सिंह भी एक प्रमाण पत्रों पर दो जगह शिक्षा विभाग में नौकरी कर रही थी ।

दीप्ति सिंह मूल निवासी मैनपुरी की रहने वाली है जो मैनपुरी के कस्तूरबा गांधी विद्यालय में भी शिक्षिका के पद पर तैनात थी, कानपुर देहात BSA सुनील दत्त ने दीप्ति सिंह के प्रमाण पत्रों की जांच के लिए उनसे संपर्क करने की कोशिश की पर वो लाकडाउन के पहले से ही जिले से गायब मिली जब उनके निवास पर जानकारी की गई तो मैनपुरी से भी उनके नौकरी करने की जानकारी मिली तभी BSA सुनील दत्त ने BSA मैनपुरी से सम्पर्क किया तो उनके द्वारा कार्यवाही की बात भी निकलकर सामने आई। जिस पर कानपुर देहात के BSA सुनील दत्त ने अमरौधा के कस्तूरबा विद्यालय से दीप्ति सिंह के प्रमाण पत्रों का मिलान किया तो दीप्ति के नाम के साथ उनसे प्रमाण पत्र भी एक ही निकले । जिससे इस मामले का भी खुलासा हुआ कि दीप्ति सिंह कानपुर देहात के साथ मैनपुरी में शिक्षिका के पद पर तैनात थी कानपुर देहात में 2015 में इसकी तैनाती हुई थी ।

ये भी पढ़ें:यूपी सरकार का बड़ा ऐलान, चीन के सामानों को लेकर करने वाले है ये काम

एक के बाद फर्जी शिक्षकों के खुलासे से शिक्षा विभाग में अभी और भी खुलासे होने की आशंका प्रदेश स्तर पर जताई जा रही है । कानपुर देहात के शिक्षा विभाग में फ़र्ज़ी शिक्षिका के खुलासे के बाद हड़कंप मच गया । BSA सुनील दत्त ने दीप्ति सिंह के खिलाफ भोगनीपुर कोतवाली में फर्जी तरीके से दो जगह शिक्षिका की नौकरी करने का मामला दर्ज करवाया है ।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story