×

साहब को करनी थी मोटरसाइकिल की सवारी, सपना टुटा तो बीवी का कर दिया ये हाल

एक सिरफिरे पति ने पत्नी को 100 फिट गहरे कुंए में फेंककर उस पर ऊपर से पत्थर बरसाना शरू कर दिया । पत्नी जब कुंए के अंदर बेहोश हो गई तो वो मौके से फरार हो गया । महिला पूरी रात घने जंगल के बीच उस कुंए के अंदर से मदद के लिए गुहार लगाती रही है । अगले दिन सुबह शौच के लिए निकले ग्रामीणो ने कुंए के अंदर से महिला की चीख सुनी तो इसकी सूचना पुलिस को दी ।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 4 Aug 2019 7:25 AM GMT

साहब को करनी थी मोटरसाइकिल की सवारी, सपना टुटा तो बीवी का कर दिया ये हाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर:एक सिरफिरे पति ने पत्नी को 100 फिट गहरे कुंए में फेंककर उस पर ऊपर से पत्थर बरसाना शरू कर दिया । पत्नी जब कुंए के अंदर बेहोश हो गई तो वो मौके से फरार हो गया । महिला पूरी रात घने जंगल के बीच उस कुंए के अंदर से मदद के लिए गुहार लगाती रही है । अगले दिन सुबह शौच के लिए निकले ग्रामीणो ने कुंए के अंदर से महिला की चीख सुनी तो इसकी सूचना पुलिस को दी । मौके पर पहुंची पुलिस ने गा्रमीणों की मदद से महिला को कुंए से बाहर निकाला और उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया ।

घटना अमरौधा गांव के पास की है

भोगनीपरु थाना क्षेत्र स्थित अमरौधा गांव में रहने वाले रफीक के बेटे शहनवाज के गांव की शबनवी से प्रेम संबध थे । दोनो एक दूसरे से शादी करना चाहते थे । शहनवाज के परिजनों को ये रिश्ता मंजूर नहीं था । लेकिन रिश्तेदारों के दबाव में आकर दोनो के परिजनों ने 10 जुलाई 2019 को निकाह कर दिया । शबनवी एक हफ्ते ससुराल में रहने के बाद चौथी में मायके आ गई थी ।

ये भी देखें:सेंगर के 17 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी, CBI ने शुरू किया सर्च ऑपरेशन

शबनवी के ससुराल वाले लेने के लिए नहीं आ रहे थे । शबनवी की मां का कहना है कि ससुराल वाले दो लाख रूपए और एक मोटरसाईकल की मांग कर रहे है । उनका कहना है कि जब तक इतना दहेज नहीं मिलेगा तो विदाई नहीं कराएंगे । शहनवाज अचानक शबनवी को दिल्ली ले जाने की बात करने लगा । शबनवी की मां ने बेटी को दिल्ली भेजने से मना कर दिया । इससे नाराज होकर शहनवाज तलाक देने की धमकी देने लगा । इस पर शबनवी दिल्ली जाने के राजी हो गई ।

ये भी देखें:लॉडरहिल टी-20: दूसरा मैच आज, सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

शबनवी ने बताया कि शहनवाज का फोन आया कि कोई तुम्हे लेने के लिए नहीं आ रहा है । इससे तुम बहुत दुखी हो चलो मैं तुम्हे बाहर घुमाकर लाता हूं और होटल में खाना खाएंगे । इस पर मैं चलने के लिए राजी हो गई । बाईक से शहनवाज मुझे ले गया वो मुझे लेकर इधर उधर घूमता रहा । इसके बाद लगभग 11 देर रात चंदीपुरवा के बरियानीपुरवा के जंगलों मे एक सूखा कुंआ था । वहां पर मुझे ले गया और धक्का देने लगा । मै समझ गई कि ये मुझे जान से मारने के लिए यहां पर लेकर आया है ।

पूरी रात कुएं में पड़ी रही

शहनवाज ने दो बार धक्का दिया लेकिन मैने कुंए की दिवार पकड़ ली । शहनावाज के हाथ जोड़कर छोड़ने की गुहार लगाती रही पर उसने मेरी एक बात नहीं सुनी । शहनवाज ने मुझसे कुंए की दिवार छुड़ाकर धक्का दे दिया । जब मैं कुंए के अंदर से चिल्लाने लगी तो उसने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया । कुछ देर बाद मैं बेहोश हो गई । जब होश आया तो पूरी रात कुंए के अंदर से मदद के लिए गुहार लगाती रही ।

ये भी देखें:तनावपूर्ण माहौल के बीच जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे अमित शाह, ये है मंशा

उसने बताया कि जब सुबह हुई तो मैने फिर से मदद के लिए अवाज लगाना शुरू किया । मेरी अवाज सुनकर एक बाबा ने कुएं के अंदर झांका । मैने उनसे पूरा घटनाक्रम बताया , उन्होने इसकी सूचना पुलिस और ग्रामीणों को दी । तब मुझे बाहर निकाला गया ।

भोगनीपुर इंस्पेक्टर रिश्रिकांत के मुताबिक एक महिला को उसके पति ने कुंए में फेंका था । उसे बाहर निकाल कर उपचार के लिए भर्ती कराया गया है । आरोपी पति की तलाश की जा रही है ।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story