भड़काऊ बयान: एनआरसी और 370 पर ये क्या बोल गए कांग्रेस नेता  

कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य डॉक्टर पीएल पुनिया ने यह असम की विशेष परिस्थिति थी। बांग्लादेश से काफी संख्या में लोग वहां आए जिसमें से काफी लोगों को घुसपैठिया भी माना गया। असम में लागू इस योजना की मंशा यह थी कि बांग्लादेशी घुसपैठियों की पहचान करके उनको नियम के अनुसार वापस भेजा जाए।

Published by SK Gautam Published: September 1, 2019 | 4:53 pm
Modified: September 1, 2019 | 5:30 pm

बाराबंकी: भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम में नेशनल सिटिज़न रजिस्टर यानी एनआरसी की आख़िरी लिस्ट जारी हो चुकी है। इस लिस्ट में 19 लाख से ज्यादा लोगों का नाम शामिल नहीं हैं। इसे लेकर तमाम तरह की राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं।

बांग्लादेशी घुसपैठियों की पहचान करके उनको नियम के अनुसार वापस भेजा जाए

कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य डॉक्टर पीएल पुनिया ने यह असम की विशेष परिस्थिति थी। बांग्लादेश से काफी संख्या में लोग वहां आए जिसमें से काफी लोगों को घुसपैठिया भी माना गया। असम में लागू इस योजना की मंशा यह थी कि बांग्लादेशी घुसपैठियों की पहचान करके उनको नियम के अनुसार वापस भेजा जाए। लेकिन इसके माध्यम से अगर पूरे देश में माहौल खराब किया जाएगा, तो यह गलत होगा।

ये भी देखें : बेहद शर्मनाक: डाक्टर की लापरवाही के चलते प्रसूता की गयी जान

इसके साथ ही पीएल पुनिया ने कहा कि चाहे एनआरसी का मामला हो या 370 का मामला हो, यह सब उस समय उठाए जा रहे हैं जब देश की अर्थव्यवस्था बुरी हालत में है। सरकार की ही रिपोर्ट है कि पिछले अंतिम तिमाही में 5 फीसदी जीडीपी ग्रोथ है।

देश आर्थिक संकट से गुजर रहा…

जबकि सरकार 5 ट्रिलियन यूएस डॉलर की इकानॉमी करेंगे और इसको 8 से 10 फीसदी तक ले जाएंगे। लेकिन यह लुढककर पांच फीसदी पर आ गयी। देश आर्थिक संकट से गुजर रहा है लेकिन सरकार उस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रही।

ये भी देखें : महंगा हुआ सिलेंडर: इस महीने जेब हो जाएगी खाली, यहां जाने रेट

वहीं बीजेपी को आईएसआई से फंडिग के दिग्विजय सिंह के आरोपों पर पीएल पुनिया ने कहा कि उन्होंने यह बयान किस आधार पर दिया, यह वही बता सकते हैं। फिलहाल मेरे पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है औऱ मैं उनके बयान से खुद को नहीं जोड़ रहा।