पटरी दुकानदारों को ऋण बांटने में पीएम का शहर अव्वल, सीएम का शहर चौथे स्थान पर

शहर के पथ विक्रेताओं को महापौर सीताराम जायसवाल, राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद और विधायक ग्रामीण विपिन सिंह ने 10 हजार रुपये ऋण उपलब्ध कराने का प्रमाण पत्र दिया।

gorakhpur-matter

पटरी दुकानदारों को ऋण बांटने में पीएम का शहर अव्वल, सीएम का शहर चौथे स्थान पर (Photo by social media)

गोरखपुर: पटरी व्यवसायियों के लिए प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर निधि योजना का मंगलवार को शुभारंभ हो गया। नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योजना की शुरुआत की। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का एनेक्सी भवन में वर्चुअल प्रसारण किया गया। प्रदेश में पटरी दुकानदारों को 10-10 हजार रुपये का ऋण बांटने में पीएम नरेन्द्र मोदी का शहर वाराणसी नंबर एक पर है। वहीं मुख्यमंत्री का गृहजनपद इस मामले में चौथे स्थान पर है।

ये भी पढ़ें:बसपा को तगड़ा झटका पूर्व सांसद सपा में शामिल, दर्जनों हुए साइकिल पर सवार

शहर के पथ विक्रेताओं को महापौर सीताराम जायसवाल, राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद और विधायक ग्रामीण विपिन सिंह ने 10 हजार रुपये ऋण उपलब्ध कराने का प्रमाण पत्र दिया। मंगलवार की सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा, वाराणसी और लखनऊ के लाभार्थियों से बात की। उन्होंने लाकडाउन में पैदा हुई विपरीत परिस्थितियों और उससे निबटने के इंतजामों की जानकारी ली। प्रधानमंत्री का संबोधन समाप्त होने के बाद प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम शुरू हुआ।

राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद ने कहा

राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद ने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सबकी चिंता करते हैं। महापौर सीताराम जायसवाल ने कहा कि सरकार अब गरीबों के द्वार पहुंच रही है। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने मिलकर गरीबों के लाभ के लिए योजना बनाई। इससे पूर्व राज्यसभा सदस्य शिवप्रताप शुक्ल भी कार्यक्रम में पहुंचे थे।

योजना का लाभ देने में गोरखपुर का प्रदेश में चौथा स्थान

डूडी के परियोजना अधिकारी और नगर निगम में अपर नगर आयुक्त डीके सिन्हा ने बताया कि योजना का लाभ देने में गोरखपुर का प्रदेश में चौथा स्थान है। प्रदेश में पहले नंबर पर वाराणसी, दूसरे नंबर पर लखनऊ और तीसरे नंबर पर आगरा है। गोरखपुर चौथे और प्रयागराज पांचवें नंबर पर है। गोरखपुर नगर निगम को 33,604 लोगों को योजना का लाभ देने का लक्ष्य रखा गया है। गोरखपुर शहर के 20, 500 लोगों के आवेदन फार्म वेबसाइट पर अपलोड हो गया हैं। इनमें से 13,325 आवेदनों को मंजूरी मिल गई है। 10,301 के खातों में 10-10 हजार रुपये भेजे जा चुके हैं।

10 हजार का लोन, एक साल में वापसी

लाकडाउन में पटरी व्यवसायियों का सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था। इन्हें फिर से व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऋण योजना शुरू की है। 10 हजार रुपये ऋण लेने वालों को एक साल में यह रकम वापस करनी है। डिजिटल विधि से रुपये वापस करने वालों को ऋण में छूट भी दी जा रही है।

ये भी पढ़ें:सरकार ने दी खुशखबरी: अब जम्मू-कश्मीर में खरीद सकेंगे जमीन, हुआ बड़ा फैसला

50 को बुलाया, पहुंचे 45 लाभार्थी

गोरखपुर के एनेक्सी भवन में पटरी दुकानदारों के लिए संचालित प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थियों से पीएम नरेन्द्र मोदी का संवाद कार्यक्रम रखा गया था। इसमें 50 लाभार्थियों को बुलाया गया था। जिसमें से 45 लाभार्थी कार्यक्रम में पहुंचे थे। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोरखपुर के किसी लाभार्थी से बात नहीं की। हालांकि इस दौरान लाभार्थियों ने प्रधानमंत्री के संबोधन को पूरी संजीदगी से सुना।

पूर्णिमा श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App