सरकार ने दी खुशखबरी: अब जम्मू-कश्मीर में खरीद सकेंगे जमीन, हुआ बड़ा फैसला

अब जम्मू-कश्मीर में कोई भी व्यक्ति जमीन खरीद सकता है और वहां पर बस सकता है। हालांकि खेती की जमीन अभी भी म्मू-कश्मीर के लोगों के लिए ही रहेगी। 

JAMMU KASHMIR

अब जम्मू-कश्मीर में कोई भी खरीद सकेगा जमीन (फोटो- सोशल मीडिया)

कश्मीर: जम्मू-कश्मीर में जमीन खरीदना पहले एक सपना जैसा था, यह हर किसी के लिए संभव नहीं था लेकिन अब ये सपना साकार हो सकता है। यहां पर अब कोई भी जमीन खरीद सकता है और यहां पर बस सकता है। जी हां, इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से आज यानी मंगलवार को नया नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है। हालांकि अभी वहां पर खेती की जमीन पर रोक जारी रहेगी।

खेती की जमीन केवल जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए ही रहेगी

वहीं जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोस सिन्हा (Lt. Governor Manoj Sinha) ने कहा कि हम चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर में बाहर की इंडस्ट्री भी लगें। इसलिए इंडस्ट्रियल लैंड (Industrial land) में इन्वेस्ट की जरूरत है, लेकिन खेती के लिए जमीन केवल जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए ही रहेगी।

यह भी पढ़ें: अमेरिका के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री से मिले NSA अजीत डोभाल, इन मुद्दों पर हुई बात

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के तहत लिया गया फैसला

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इससे पहले तक केवल जम्मू-कश्मीर के लोग ही वहां पर जमीन खरीद या बेच सकते थे, लेकिन अब इस राज्य के निवासियों के अलावा बाहर से आने वाले लोग भी यहां पर जमीन खरीद सकेंगे और यहां पर बस सकेंगे। बताते चलें कि गृह मंत्रालय द्वारा यह फैसला जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम (Jammu and Kashmir Reorganization Act) के तहत लिया गया है।

यह भी पढ़ें: आ रहे 300 आतंकी: सेना पूरी तरह हुई तैयार, अब LOC पर मरेंगें ढेरों आतंकवादी

स्थानीय निवासी होने का भी नहीं देना होगा सबूत

केंद्रीय गृह मंत्रालय के इस फैसले के बाद अब कोई भी भारतीय जम्मू-कश्मीर में आसानी से घर, दुकान या फैक्ट्री के लिए जमीन खरीद सकेगा। इसके लिए उस शख्स को किसी तरह के स्थानीय निवासी होने का सबूत भी नहीं देना पड़ेगा। गौरतलब है कि केंद्र की मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से पिछले साल आर्टिकल 370 हटाकर राज्य का विशेषाधिकार खत्म कर दिया है।

यह भी पढ़ें: महिलाओं के उड़े चीथड़े: हादसे से कांप उठा हर कोई, पुलिसकर्मी को ट्रक ने कुचला

जम्मू-कश्मीर को अनुच्छेद 370 से मुक्त करने के बाद 31 अक्टूबर 2019 को जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश बन गया था। वहीं इसके एक साल पूरे होने पर जमीन के कानून में भी बदलाव किया गया है।

यह भी पढ़ें: दो दिग्गज एक साथ: आनंद कुमार और आरके श्रीवास्तव, असाधारण व्यक्तित्व के धनी

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App