Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

प्रियंका गांधी बोलीं: किसान कानून में नहीं होगी भाजपा के अरबपति मित्रों की बात

प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर बयान जारी कर भाजपा को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की है। उन्होंने भाजपा नेताओं व उनके समर्थकों की ओर से किसानों को देशद्रोही व खालिस्तान समर्थक बताने की निंदा की है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 3 Dec 2020 8:08 AM GMT

प्रियंका गांधी बोलीं: किसान कानून में नहीं होगी भाजपा के अरबपति मित्रों की बात
X
प्रियंका गांधी बोलीं: किसान कानून में नहीं होगी भाजपा के अरबपति मित्रों की बात
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने किसान आंदोलन को लेकर भाजपा पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि किसानों को देशद्रोही बताने के बावजूद अब भाजपा सरकार को किसानों से ही बात करनी होगी। किसान कानून के केंद्र में भाजपा के अरबपति मित्र नहीं बल्कि किसान ही होंगे। उनके हित की ही बात होगी।

किसान आंदोलन को लेकर भाजपा पर हमलावर प्रियंका गांधी

आपको बता दें कि किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस लगातार भाजपा पर हमलावर है। प्रियंका गांधी और राहुल गांधी हर रोज बयान जारी कर किसान आंदोलन का समर्थन और भाजपा की आलोचना कर रहे हैं। बृहस्पतिवार को प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर बयान जारी कर भाजपा को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की है। उन्होंने भाजपा नेताओं व उनके समर्थकों की ओर से किसानों को देशद्रोही व खालिस्तान समर्थक बताने की निंदा की है।

kisan movement

किसान कानून के केंद्र में किसान ही रहेगा

अपने बयान में उन्होंने याद दिलाया कि भाजपा के लोग किसानों के आंदोलन को विफल करने के लिए सभी तरह के हथकंडे अपना चुके हैं। किसानों को देशद्रोही बताया गया। किसान आंदोलन के पीछे इंटरनेशनल साजिश का दावा किया गया।

आंदोलन करने वालों पर सवाल उठाए गए कि वह सब किसान नहीं लगते हैं। इतना सब करने के बावजूद अब किसान संगठनों के साथ बातचीत में सरकार को किसानों की बात सुनना होगा। किसान कानून के केंद्र में किसान ही रहेगा। इस कानून का फायदा भाजपा के अरबपति मित्रों को नहीं मिलने दिया जाएगा।

ये भी देखें: PM मोदी के लिए बुजुर्ग महिला ने उठाया बड़ा कदम, देना चाहती हैं अपनी जायदाद

किसानों की मर्जी का कानून बनाना होगा

कानून को अरबपतियों के हित में नहीं केवल किसानों के हित में ही बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पूंजीपतियों के हित में बनाए गए कानून को रद्द कराने के लिए आज किसान खुद घर से निकलकर दिल्ली की सडक़ों पर डेरा डाल चुका है। अब सरकार को किसानों की बात सुननी होगी और उनके हित की सुरक्षा के साथ ही किसानों की मर्जी का कानून बनाना होगा।

kisan movement-2

नाम किसान कानून लेकिन सारा फायदा अरबपति मित्रों का-प्रियंका गांधी

तीन दिन पहले भी प्रियंका ने टवीट कर कहा था कि नाम किसान कानून लेकिन सारा फायदा अरबपति मित्रों का। किसान कानून बिना किसानों से बात किए कैसे बन सकते हैं? उनमें किसानों के हितों की अनदेखी कैसे की जा सकती है। सरकार को किसानों की बात सुननी होगी। आइए मिलकर किसानों के समर्थन में आवाज उठाएं।

ये भी देखें: यूपी के लिए खुशखबरी: आज लग रहा MSME लोन मेला, सरकार देगी इतने करोड़ ऋण

रिपोर्ट- अखिलेश तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story