शारीरिक दूरी बनाते हुए करें लोगों को जागरूकः प्रो. एनके तनेजा

कोरोना वायरस बीमारी में शारीरिक दूरी बनाते हुए लोगों को जागरूक करें। बिना मास्क लगाए और बिना ग्लब्स पहने कोई भी कार्यकर्ता बाहर न निकले। लॉकडाउन का…

मेरठ: कोरोना वायरस बीमारी में शारीरिक दूरी बनाते हुए लोगों को जागरूक करें। बिना मास्क लगाए और बिना ग्लब्स पहने कोई भी कार्यकर्ता बाहर न निकले। लॉकडाउन का पालन करते हुए अपने-अपने क्षेत्र में प्रशासन की मदद करें। लोगों का बताएं कि घर पर रहकर ही कोरोना वायरस से बचा जा सकता हैं। इसके अलावा इसका कोई बचाव नहीं है। शुक्रवार को वीडिया कांफ्रेस के माध्यम से एनएसएस की प्रगति बैठक की अध्यक्षता कर रहे कुलपति प्रोफेसर एनके तनेजा जी ने इस तरह के दिशा निर्देश एनएसएस अधिकारियों को दिए।

ये भी पढ़ें: अब जजों ने दिखाई नेकी: कोरोना से जंग में मदद का बढ़ाया हाथ, किया ये काम

कुलपति ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न विश्वविद्यालयों के अपेक्षा चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में कोरोना मरीजों की संख्या अधिक हो सकती है। इसीलिए हमारा दायित्व और भी अधिक हो जाता है। केंद्र सरकार के आयुष मंत्रांलय द्वारा जो गाईड लाइन जारी की गई है उसके पालन के लिए लोगों को जागरूक करें। आयुष मंत्रालय की गाईड लाइन का अधिक से अधिक प्रचार प्रसार करें।

गाईड लाइन के अनुसार योग, प्रणायाम, प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढाने हेतु बताए गए उपचारों यथा तुलसी, हल्दी, अदरक, काली मिर्च आदि का प्रयोग करने के लिए लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करने पर बल दिया। कुलपति ने कहा कि एनएसएस के स्वयंसेवक द्वारा बहुत अच्छा काम किया जा रहा है इसके लिए वह प्रशंसा के पात्र हैं। कहा कि इस प्रकार का त्याग व सेवा करना जीवन का सबसे महत्वपूर्ण काम है। जागरूकता कार्यक्रम के लिए विश्वविद्यालय स्तर से यदि कोई मदद चाहिए तो इसके लिए अवगत कराएं। विश्वविद्यालय हर प्रकार से मदद करेगा।

ये भी पढ़ें:अब जजों ने दिखाई नेकी: कोरोना से जंग में मदद का बढ़ाया हाथ, किया ये काम

विश्वविद्यालय के एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी और बैठक का संचालन कर डीजे कॉलेज बडौत के प्राचार्य डॉक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि प्रशासन की मदद करते हुए एनएसएस की और से अभी तक 26 हजार मास्क का वितरण किया जा चुका है। जो एनएसएस के कार्यकर्ताओं के द्वारा ही बनाए गए थे। इसके अलावा पोस्टर के माध्यम से 65 हजार अपील, और 60 हजार लोगों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करा चुके हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के प्रति लोगों को जागरूकर करने के लिए हर जिले 100 कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया गया है और हर जिले में पांच काउंसलर भी बनाए गए हैं जो कि लोगों को जागरूक करने का काम कर रहे हैं। इस बैठक में केंद्र सरकार के प्रभारी डॉक्टर अशोक सोती व प्रदेश सरकार की प्रभारी डॉक्टर अंशुमाली शर्मा, व हर जिले के नोडल अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट: सुशील कुमार

ये भी पढ़ें:पुलिस ने रोकी गाड़ी, BJP महिला नेता का गुस्सा पहुंचा सातवें आसमान पर

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App