CM येागी ने जताया शोक, नहीं रहे पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद जी महाराज

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद जी महाराज के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

Published by Roshni Khan Published: June 15, 2020 | 2:12 pm

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद जी महाराज के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। आज यहां जारी एक शोक संदेश में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद महाराज के निधन से समाज को अपूरणीय क्षति हुई है।

ये भी पढ़ें:टिक टॉक स्टार की मौत: फेमस होने के चक्कर में कर दिया कांड, चली गई जान

उन्होंने कहा कि स्वामी प्रज्ञानंद महाराज ने अन्तर्राष्ट्रीय प्रज्ञा मिशन और अन्तर्राष्ट्रीय प्रज्ञा योग फाउण्डेशन की स्थापना की। स्वामी के समृद्ध आध्यात्मिक और सामाजिक योगदान के लिए उन्हें सदैव याद किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद जी महाराज के अनुयायियों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की हैं।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी शोक

इसके अलावा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य अंतरराष्ट्रीय प्रज्ञा मिशन के संस्थापक महामंडलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद जी महाराज के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना की है कि दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें व शोक संतप्त शिष्यों को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

ये भी पढ़ें:सर्वदलीय बैठक में बोले बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष-प्राइवेट अस्पतालों के चार्ज फिक्स हो

गौरतलब हे कि अन्तरराष्ट्रीय प्रज्ञा मिशन के संस्थापक महामंडलेश्वर स्वामी प्रज्ञानंद महाराज शनिवार की शाम दिल्ली स्थित आश्रम में ब्रह्मलीन हो गए। आव्हान अखाड़े के महामंडलेश्वर और दिल्ली संत महामंडल में 15 साल अध्यक्ष रहे। स्वामी प्रज्ञानंद की शिष्या साध्वी विभानंद ने बताया कि स्वामी जी ने शनिवार को दैनिकचर्या के साथ ही सुबह नाश्ता और दोपहर में भोजन किया और विश्राम में चले गए। दोपहर में विश्राम में जाने के पहले उनकी मोबाइल पर बात हुई थी। जिसमें उन्होंने बताया कि भोजन करने की इच्छा नहीं हो रही है। इसलिए शाम को सूप लूंगा। शाम को सेवक जब उनके कमरे में गया तो उन्होंने कोई हरकत नहीं की। बताया जा रहा है कि सोते समय उन्हें हृदयाघात हुआ।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App