×

किसान आंदोलन: अलख जगाने निकले टिकैत, केंद्र सरकार के खिलाफ भरी हुंकार

बलिया रवाना होने से पहले उन्होंने बनारस में मीडिया से कहा कि किसान का भला किसान आंदोलन से ही होगा। राजनीतिक पार्टी के लोग चुनाव लड़ेंगे तो उनको चुनाव लड़ने दो।

Newstrack
Updated on: 10 March 2021 11:12 AM GMT
किसान आंदोलन: अलख जगाने निकले टिकैत, केंद्र सरकार के खिलाफ भरी हुंकार
X
पूर्वांचल किसान आंदोलन: अलख जगाने निकले टिकैत, केंद्र सरकार के खिलाफ भरी हुंकार (PC: social media)
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

वाराणसी: कृषि कानून को लेकर दिल्ली की सरहद पर खींचतान जारी है। किसान अपनी मांगों पर अड़े हैं तो दूसरी ओर सरकार भी झुकने को तैयार नहीं है। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत केंद्र की बीजेपी सरकार के खिलाफ लगातार विरोध कर रहे हैं। आंदोलन को मजबूती देने के लिए वो बुधवार को पूर्वांचल के दौरे पर पहुंचे राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार की नीतियों का विरोध किया। उन्होंने कहा की राजनीतिक तौर पर नहीं बल्कि आंदोलन से क़ृषि बिल का हल निकलेगा।

ये भी पढ़ें:औरैया सड़क हादसा: डंपर की चपेट में आया बाइक सवार, तड़प-तड़प कर हुई मौत

सड़क मार्ग से बलिया हुए रवाना

varanasi Rakesh Tikait (PC: social media)

बलिया रवाना होने से पहले उन्होंने बनारस में मीडिया से कहा कि किसान का भला किसान आंदोलन से ही होगा। राजनीतिक पार्टी के लोग चुनाव लड़ेंगे तो उनको चुनाव लड़ने दो। किसान आंदोलन तो जनता करेगी और जनता तो सड़क पर आ गई है। बलिया में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद राकेश टिकैत गुरुवार को तीन दिनों के लिए पश्चिम बंगाल रवाना हो जाएंगे।सरकार पर हमला बोलते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि आंदोलन स्थल पर कोई राजनीति वाला तो मिला नहीं, ना ही किसी का टेंट लगा है। वहां केवल किसान बैठे हैं। करो या मरो के नारे से ही आजादी मिलती है।

ये भी पढ़ें:मिली खजाने की तिजोरी: लग गया लोगों का जमावड़ा, यूपी के इस शहर से बड़ी खबर

अगले एक दो महीने में हल निकलने की उम्मीद

राकेश टिकैत ने आगे कहा कि बलिया क्रांतिकारियो की धरती है। बिहार जुड़ा है बलिया से। यहीं से करो या मरो का का नारा निकलेगा। उन्होंने कहा कि आज़ादी की लड़ाई भी 90 साल चली थी और उम्मीद है कि अगले एक दो महीने में किसान आंदोलन का हल निकल आएगा। आपको बता दें की पिछले तीन महीने से किसान आंदोलन कर रहे हैं। क़ृषि बिल को लेकर सरकार और किसानों के बीच 11दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन कोई हल नहीं निकला।

रिपोर्ट- आशुतोष सिंह

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story