×

मिली खजाने की तिजोरी: लग गया लोगों का जमावड़ा, यूपी के इस शहर से बड़ी खबर

कानपुर के मंधना में हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है। यहां जीटी रोड के चौड़ीकरण के चलते एक दुकान का अतिक्रमण हटाया जा रहा था। जिसके लिए खुदाई की जा रही थी। तभी इस खुदाई में पुरानी तिजोरी मिली।

Newstrack
Updated on: 10 March 2021 10:24 AM GMT
मिली खजाने की तिजोरी: लग गया लोगों का जमावड़ा, यूपी के इस शहर से बड़ी खबर
X
कानपुर के मंधना में हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है। यहां जीटी रोड के चौड़ीकरण के चलते एक दुकान का अतिक्रमण हटाया जा रहा था। जिसके लिए खुदाई की जा रही थी। तभी इस खुदाई में पुरानी तिजोरी मिली।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कानपुर। कानपुर के मंधना में हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है। यहां जीटी रोड के चौड़ीकरण के चलते एक दुकान का अतिक्रमण हटाया जा रहा था। जिसके लिए खुदाई की जा रही थी। तभी इस खुदाई में पुरानी तिजोरी मिली। इस तिजोरी में खजाना होने की खबर होते ही भीड़ टूट पड़ी। तिजोरी को लोहे की रॉड से वेल्डिंग कर बंद कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें...राम मंदिर के निर्माण के बाद, हम दिल्ली के बुजुर्गों को अयोध्या में दर्शन के लिए ले जाएंगे: CM केजरीवाल

तिजोरी पर उमड़ी भीड़

बता दें, मंधना के बहलोलपुर निवासी दिनेश त्रिवेदी की परचून की दुकान के अतिक्रमण हटाने में दो फीट भीतर ये तिजोरी मिली। तिजोरी की खबर होते ही भीड़ बढ़ता देख मंधना चौकी इंचार्ज मो. मतीन खान पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे।

इसके बाद तिजोरी को चौकी परिसर में सुरक्षित रखवाया। फिर इसके बाद नायाब तहसीलदार विराग करवरिया मौके पर पहुंचे और तिजोरी को बन्द कराकर बिठूर थाने के मालघर में रखवाया। जिससे भीड़ पर किसी तरह से काबू पाया गया। लेकिन इसके बाद ये मामला यहीं नहीं थमा।

ये भी पढ़ें... फिर लखनऊ में आत्मदाह: विधानभवन के सामने की घटना, बचाने के लिए दौड़े पुलिसकर्मी

दुकान पर अपना पुश्तैनी दावा

इस बारे में उन्होंने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देशानुसार तिजोरी पर दावा ठोकने वालों की बात सुनने के बाद तिजोरी खोली जाएगी। इस बीच जानकारी होने पर मंधना के बहलोलपुर में ही रहने वाले एक प्राइवेट फैक्ट्री मैनेजर अरुण कुमार मिश्रा चौकी पहुंचे और दुकान पर अपना पुश्तैनी दावा पेश किया। साथ ही बताया कि पिता महेशनारायन मिश्रा ने दिनेश त्रिवेदी को दुकान किराए पर सालों से दे रखी है।

ये भी पढ़ें...एटा में खूनी संघर्ष: मकान को लेकर हुआ भयानक बवाल, छोटे भाई समेत 3 लोग घायल

Newstrack

Newstrack

Next Story