Top

16 दिन पहले हुई थी बच्चे की मौतः डॉक्टरों की जांच रिपोर्ट आए, तब दर्ज करें FIR

रायबरेली के शहर कोतवाली क्षेत्र के मधुबन रोड पर डॉ धीरज सिंह चंदेल अपना निजी नर्सिंग होम आस्था चाइल्ड केयर हॉस्पिटल के नाम से चलाते हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 29 Sep 2020 11:27 AM GMT

16 दिन पहले हुई थी बच्चे की मौतः डॉक्टरों की जांच रिपोर्ट आए, तब दर्ज करें FIR
X
रायबरेली: 16 दिन बीतने के बाद भी नहीं दर्ज हुई FIR,पीड़िता मां परेशान (social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायबरेली: करोना कॉल में डॉक्टरों के किए गए कार्यों को लेकर सभी लोगों के मन में डॉक्टरों के प्रति बड़ा सम्मान और इसने देखने को मिला लेकिन इसी कोविड-19 में सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में प्राइवेट डॉक्टर धीरज सिंह चंदेल की गुंडई सामने आने के बाद लोगों का डॉक्टरों पर से भरोसे के साथ-साथ सम्मान भी कम हुआ है। रायबरेली के शहर कोतवाली क्षेत्र के मधुबन रोड पर डॉ धीरज सिंह चंदेल अपना निजी नर्सिंग होम आस्था चाइल्ड केयर हॉस्पिटल के नाम से चलाते हैं।

ये भी पढ़ें:पहली बार सामने आई ‘Bigg Boss’ शो के सभी 14 प्रतिभागियों की लिस्ट, यहां देखें

बच्चे की मौत होने पर परिजन रोने भी लगने लगे

डॉक्टर साहब के यहां केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कि संसदीय क्षेत्र अमेठी के छतोह ब्लाक से एक महिला अपने 8 साल के बच्चे का इलाज करवाने पहुंची लेकिन इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मौत होने पर परिजन रोने भी लगने लगे। यही बात डॉक्टर साहब को बुरी लग गई डॉक्टर साहब ने आव देखा न ताव। परिजनों को दुत्कार ने लगे और कहा शोर मच आओगे तो हवालात में डाल देंगे डॉक्टर साहब का मन इतने में नहीं पसीजा उन्होंने अपने नर्सिंग होम के कर्मचारियों को यह ताकीद की कि यह महिला बिना इलाज के पूरे पैसे दिए हुए ना जा पाए जब तक इलाज के पैसे ना ले लेना तब तक बॉडी मत देना।

raebareli-matter raebareli-matter (social media)

पीड़िता के एप्लीकेशन देने के बाद भी FIR अभी तक नहीं दर्ज होता है

सोशल मीडिया पर वायरल हुए डॉक्टर साहब इस वीडियो के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। जिसके बाद सीएमओ ने इस पूरे मामले की जांच करने के आदेश दिए साथ ही आईएमए को इस प्रकरण को देखने की हिदायत दी है। स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन पर एक कहावत बनती है। 9 दिन चले अढ़ाई कोस वहीं डॉ धीरज चंदेल नर्सिंग होम में आस्था चाइल्ड केयर में 13 सितंबर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। तो जिले में हड़कंप मच गया 16 दिन बीतने के बाद भी पीड़िता के एप्लीकेशन देने के बाद भी FIR अभी तक नहीं दर्ज होता है सीएमओ विरेंद्र सिंह का कहना है कि अभी डॉक्टरों द्वारा इसकी तीन सदस्यीय जांच चल रही है।

ये भी पढ़ें:निर्मल गंगा बड़ा फैसलाः रोका जाएगा गंगा में रोज गिरने वाला 15 करोड़ लीटर मैला जल

raebareli-matter-police raebareli-matter-police (social media)

एसपी श्लोक कुमार का कहना है कि डॉक्टरों की जब तक कोई जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती जब तक एफ आई आर नहीं दर्ज हो सकती है। बाकी जैसे ही जांच रिपोर्ट आती है वैसे ही मुकदमा दर्ज कर कार्यवही की जायेगी ।

नरेन्द्र सिंह

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story