दोस्तों के साथ मिलकर की पत्नी की हत्या, सात महीने बाद बरामद हुआ शव

लालगंज और सरोजनी नगर थाना लखनऊ की पुलिस ने लखनऊ में दर्ज एक महिला के अपहरण के मुकदमे के बाबत दीपेमऊ लालगंज के पास के जंगलों से सिर कटी महिला की लाश बरामद की है । लालगंज पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है ।

रायबरेली: युवक ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर की पत्नी की हत्या की थी। सात महीने बाद लखनऊ पुलिस ने रायबरेली के जंगल से शव बरामद किया है। इस हत्या के आरोप में तीन युवकों को किया गिरफ्तार कर लिया गया है।  सुल्तानपुर की रहने वाली मृतका मधु तिवारी ने शिवप्रसाद यादव नाम के युवक के साथ 2008 में प्रेम विवाह किया था।

लालगंज और सरोजनी नगर थाना लखनऊ की पुलिस ने लखनऊ में दर्ज एक महिला के अपहरण के मुकदमे के बाबत दीपेमऊ लालगंज के पास के जंगलों से सिर कटी महिला की लाश बरामद की है । लालगंज पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है । लखनऊ सरोजनी नगर में दर्ज अपराध संख्या 411/ 19 के अपहरण के मुकदमे के विवेचक अरविंद पांडे ने बताया कि फरवरी 2019 में सरोजनी नगर निवासी शिव प्रसाद यादव की पत्नी मधु तिवारी गायब हो गई थी ।

ये भी देखें : यूपी: पीसीएस-जे-2018 का परिणाम घोषित, गोंडा की आकांक्षा तिवारी ने किया टॉप

बाद में प्रॉपर्टी को लेकर मधु तिवारी और शिवप्रसाद में विवाद हो गया

मधु तिवारी के गायब होने के मामले में उसकी मौसी गायत्री पत्नी राममिलन निवासी उसरावा सुल्तानपुर ने सरोजिनी नगर थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था । पुलिस गायब महिला की खोजबीन में लगी हुई थी तभी दीपेमऊ थाना लालगंज निवासी सचिन को सरोजिनी नगर पुलिस ने चोरी के एक मामले में पकड़ा तो उसने सरोजनी नगर से गायब महिला मधु तिवारी की हत्या हो जाने की बात भी पुलिस से कबूल की। तब सरोजिनी नगर पुलिस ने सचिन के बयान के आधार पर हत्या में शामिल मधु तिवारी के पति शिवप्रसाद निवासी गहरू मक्का खेड़ा थाना सरोजनी नगर, अरविंद कुमार पुत्र अशोक कुमार निवासी दीपमऊ को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की तो तीनों ने मिलकर मधु तिवारी की हत्या किए जाने की बात कबूल की।

मुकदमे के विवेचक अरविंद पांडे ने बताया कि पूछताछ में मधु तिवारी के पति शिवप्रसाद ने बताया कि उसने हलियापुर सुल्तानपुर की महिला मधु तिवारी पुत्री रामसमुझ से वर्ष 2008 में प्रेम विवाह किया था । बाद में प्रॉपर्टी को लेकर मधु तिवारी और शिवप्रसाद में विवाद हो गया ।

ये भी देखें : ईरान ने पकड़ा ब्रिटिश जहाज, 18 भारतीय भी फंसे, विदेश मंत्रालय ने कही ये बड़ी बात

आए दिन के विवाद से आजिज आकर शिवप्रसाद ने मधु तिवारी को ठिकाने लगाने की योजना अपने साथ प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करने वाले अरविंद व सचिन से कहीं। तब तीनों योजनाबद्ध तरीके से मधु तिवारी को लालगंज ले आए और रेल कोच के पास जमीन खरीदने की बात कहकर वहां ले गए ।वहीं रेल कोच कारखाने के पीछे दीपे मऊ के जंगलों में तीनों ने मिलकर मधु तिवारी का गला दबाकर हत्या कर दी ।हत्या के बाद तीनों ने मिलकर शव को नाले के पास झाड़ियों में फेंक दिया ।

विवेचक अरविंद पांडे ने यह भी बताया कि शिवप्रसाद ने 2 दिन बाद आकर मधु तिवारी की लाश का सिर काट कर नाले में फेंक दिया जिससे मधु तिवारी की शिनाख्त न हो सके। सरोजनी नगर इस्पेक्टर अरविंद पांडेय ने बताया कि शिवप्रसाद ने मधु तिवारी की शिनाख्त न हो इस कारण लाश से सिर काटकर नाले में फेंका है। बाद में शिवप्रसाद ने शव को गड्ढे में दबा दिया था ।

ये भी देखें : 97 यात्रियों को लेकर AIR India ने भरी थीं उड़ान, तभी टकराया पक्षी, आगे हुआ ये

मधु तिवारी की हत्या के बाद तीनों आराम से रहने लगे थे ।लेकिन हत्या में शामिल सचिन के एक चोरी के मामले में पकड़े जाने पर उसने मधु तिवारी की हत्या हो जाने के बाबत पुलिस को बयान दिया तब जाकर पुलिस ने अपहरण के मुकदमे में हत्या होने की धाराएं बढ़ाकर हत्या में शामिल तीनों लोगों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर लालगंज कोतवाल विनोद कुमार सिंह के सहयोग से लालगंज थाने के दीपे मऊ के जंगलों से मधु तिवारी की लाश बरामद की है। लालगंज पुलिस ने मृतका मधु तिवारी के शव को पोस्टमार्टम के लिए रायबरेली भेज दिया है।