×

थप्पड़ बाज दरोगा: हुनर बस यही है इनके पास, अब हो रही इनकी थू-थू

सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रेलवे पुलिस का बेहद शर्मनाक वीडियो सामने आया है। यहां रेलकोच फैक्ट्री में प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों में से एक कर्मी को ड्यूटी समय में सिविल ड्रेस में पहुंचे आरपीएफ के एक दरोगा ने थप्पड़ रसीद दिया।

Newstrack
Published on: 3 July 2020 9:09 AM GMT
थप्पड़ बाज दरोगा: हुनर बस यही है इनके पास, अब हो रही इनकी थू-थू
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

रायबरेली: सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रेलवे पुलिस का बेहद शर्मनाक वीडियो सामने आया है। यहां रेलकोच फैक्ट्री में प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों में से एक कर्मी को ड्यूटी समय में सिविल ड्रेस में पहुंचे आरपीएफ के एक दरोगा ने थप्पड़ रसीद दिया। वीडियो सामने आने के बाद दरोगा ने अपनी सफाई में उक्त कर्मी पर आरोप लगाते हुए कहा कि फैक्ट्री के कर्मी ने उन्हें धक्का दिया था जिस पर उनका हाथ उठ गया।

ये भी पढ़ें:योगी को आया गुस्सा: अब नहीं बचेगा विकास दुबे, अधिकारियों को मिले ये सख्त आदेश

दरअस्ल, ये पूरा मामला रायबरेली के लालगंज कोतवाली अंतगर्त मार्डन रेलकोच फैक्ट्री का है। गुरुवार को यहां फैक्ट्री के प्राइवेट कर्मचारी फैक्ट्री से तीन किलोमीटर दूर अपने वाहन खड़ा करने के आदेश के विरुद्ध प्रदर्शन कर रहे थे। मामला कुछ हद तक शांत भी हो गया था कि तभी मेन गेट पर कुछ कर्मी खड़े थे। इसी समय आरपीएफ इंस्पेक्टर सुरेंद्र मीणा सिविल ड्रेस में फैक्ट्री के मेन गेट पर पहुंचे, उन्होंने आव देखा ना ताव और एक आउटसोर्सिंग कर्मचारी को थप्पड़ जड़ दिया। लेकिन कर्मचारी को थप्पड़ मारते हुए वो कैमरे में कैद हो चुके थे।

ये भी पढ़ें:वंदे मातरम के नारे से गूंजा लद्दाख, PM मोदी के सरप्राइज विजिट से खुश हुए सैनिक

आपको बता दें कि फैक्ट्री में सरकारी कर्मचारियों को यह कहकर वाहन से कार्यस्थल तक जाने की छूट दी गई है कि वह आवासीय परिसर में रहते हैं इसलिए सुरक्षित हैं। लेकिन प्राइवेट कर्मचारियों के बाहर से आने के चलते उनसे कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका को देखते हुए कर्मचारियों को गेट के बाहर वाहन खड़ा करने का आदेश हुआ है। ऐसे में कर्मियों को दो से तीन किलोमीटर पैदल कार्यस्थल आना-जाना पड़ता है। इस बात से नाराज तमाम प्राइवेट कर्मचारियों ने गुरुवार को गेट संख्या तीन पर प्रदर्शन किया था। कर्मचारियों ने वर्कर्स कैंटीन न खोले जाने, पेयजल की समस्या समेत अन्य मुद्दे भी उठाए करीब चार घंटे प्रदर्शन के बाद कर्मचारी घर लौट गए थे।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story